ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
त्यौहारों पर बैतूल जिले में निजी आवागमन पर रोक हटाने,
August 1, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

आप ने की जिला प्रशासन से मांग।

बैतूल/सारनी। कैलाश पाटिल

इस वैश्विक कोविड-19 महामारी में फैलते संक्रमण को रोकने के लिए जिला प्रशासन के द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा हैं जैसा की वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए सप्ताह में दो दिवस का संपूर्ण लॉक डाउन भी किया गया हैं और समस्त व्यापारियों ने एवम् आम जनमानस ने उसका पूर्ण पालन भी किया हैं। इस बीच वर्तमान में दो बड़े पर्व एक मुस्लिम भाइयों का ईद उल जुहा बकरी ईद एवं रक्षाबंधन दो त्यौहार लगे हुए आए हैं और ये दोनों ही त्यौहार सैकड़ों वर्षों से लोग परंपरा अनुसार मनाते अा रहे हैं जिसमें सभी धर्मो को मानने वाले लोग एक दूसरे को बधाई देते हैं एवम् देश में सौहाद्र और भाईचारे ,शांति से इसकी मिसाल कायम की जाती रही हैं। दोनों ही त्यौहार अपने आप में सभी धर्मो को मानने वालों के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं इन त्यौहारों में जिला प्रशासन को जिले की समस्त सीमाओं को सील कर जिले कि समस्त प्रतिष्ठानों को 1 से 4 अगस्त तक बन्द रखा जाना सुनिश्चित किया जाना चाहिए था एवम् समस्त जिले में धारा 144 लगाई जानी चाहिए थी और उसे सख़्ती से उसका पालन किया जाना चाहिए था लेकिन ऐसा न करते हुए सभी त्यौहार को अनदेखा करना और इस पावन पर्व में तालाबंदी करना कहीं से कहीं तक न्याय संगत नहीं है। ये एक तुगलकी फरमान जैसा प्रतीत हो रहा हैं। ये ऐसे त्यौहार हैं जिसमें देश में एक दूसरे के प्रति जो नफरतों की दीवारें है वो ख़तम होती हैं इन त्योहारों में एक दूसरे के प्रति प्रेम सम्मान कहीं न कहीं मिलता है। सभी भाई अपनी सुनी कलाई में साल भर इंतजार करते हैं इस पर्व का बड़ी बेसब्री से बहने भी अपने भाइयों के लिए राखियां खरीदती हैं और इस दिन का इंतजार करती हैं। सरहदों पर भी कई बहने पोस्ट के द्वारा राखी भेजती हैं आज इस दौर में जो भाई 100 किलोमीटर के क्षेत्र में भी अगर कहीं हैं और वो दोनों भाई बहन इस त्यौहार में अगर न मिलें तो कहीं न कहीं शासन प्रशासन के प्रति आक्रोश व्याप्त होता हैं। आम आदमी पार्टी जिला बैतूल , जिला कलेक्टर महोदयजी से निवेदन हैं कि 1 से 4 अगस्त तक लगाए गए लॉक डाउन में बॉर्डर सील की जाना एवम् समस्त प्रतिष्ठान बंद किया जाए पर निजी वाहनों को जिले में आवागमन करने के लिए छूट प्रदान करना सुनिश्चित किया जाए।
 शहर के कई गणमान्य और आम जनमानस की भी ये मांग हैं सोशल मीडिया के माध्यम से कि इस दौरान जिले के हर चौराहों पर सख्ती से धारा 144 का पालन कराया जाना सुनिश्चित किया जाए सोशल मीडिया पर भी इस छूट को लेकर कहीं महानुभावों ने जिला प्रशासन से अनुरोध किया है कि इन त्यौहार की गंभीरता को देखते हुए तत्काल धारा 144 प्रभाव में लेते हुए समस्त जिलें में सिर्फ निजी वाहनों के आवागमन की अनुमति दी जाना सुनिश्चित किया जाए सड़को में चौक चौराहों में किसी भी तरह से इन 4 दिनों में अगर कोई भी बिना किसी कारण से अगर चहल कदमी करते हुए नजर आता हैं या सामूहिक रूप से कहीं भीड़ एकत्र होती हैं तो उन पर लॉक डाउन और धारा 144 का उल्लंघन करने का मामला दर्ज कराया जाना भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए। आपके इस आदेश में बदलाव से कहीं न कहीं आम जन मानस और सभी धर्मो को मानने वालों में खुशियां लाएगा और आगे जिला प्रशासन के द्वारा समय समय पर लॉक डाउन एवम् अन्य दिए जाने वाले दिशा निर्देशों का पालन भी गंभीरता से किया जाएगा।