ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
टिमरनी टीआई की टीम ने सुपारी किलर समेत चार लोगों को 48 घंटे के अंदर किया गिरफ्तार , स्टेट हाईवे पर गोली मारकर की थी हत्या
August 3, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

टिमरनी टीआई की टीम  ने सुपारी किलर समेत चार लोगों को 48 घंटे के अंदर  किया गिरफ्तार , स्टेट हाईवे पर गोली मारकर की थी हत्या

हरदा/टिमरनी। होशंगाबाद-खंडवा स्टेट हाईवे पर शुक्रवार रात्रि  करीब 10 बजे हुई हत्या पांच लाख रुपए की सुपारी देकर कराई गई थी। छिदगांव मेल निवासी जिस व्यक्ति ने मृतक से 21 लाख रुपए उधार लिए थे, उसी ने गांव के ही अपने साथी के साथ मिलकर हरदा के एक व्यक्ति को सुपारी दी थी। पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस कंट्रोल रूम में रविवार शाम को आयोजित पत्रकारवार्ता में एसपी मनीष कुमार अग्रवाल ने बताया कि मृतक अजब सिंह प्रजापति निवासी वार्ड नंबर 2 टिमरनी रुपयों का लेनदेन करता था। उसने 35 लाख रुपए अलग-अलग लोगों को ब्याज पर दिए थे। इसमें से 21 लाख रुपए छिदगांव मेल निवासी कालू उर्फ सुशील पिता भारत सिंह लोवंशी को दिए थे। कालू की टिमरनी के स्टेशन चौराहे पर हार्डवेयर की दुकान है। कालू ने अपने दोस्त कय्यूम पिता नूर मोहम्मद शाह निवासी छिदगांव मेल के साथ मिलकर अजब सिंह की हत्या का षडय़ंत्र रचा। कय्यूम ने बल्ली उर्फ राजकुमार पिता सुरेश सरयाम निवासी बस स्टैंड हरदा से कालू की मुलाकात कराई। इस दौरान अजब सिंह की हत्या की सुपारी पांच लाख रुपए में तय हुई। बल्ली ने ही अपने साथी गोविंद पिता गणेश मंडलेकर निवासी लूटखेड़ा छनेरा के साथ मिलकर अजब सिंह पर देसी कट्टे से फायर किया था। चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से बाइक, देसी कट्टा, 3 नग जिंदा कारतूस व पांच मोबाइल के अलावा घटना के दौरान पहने गए कपड़े और दो हजार रुपए नकद जब्त किए गए हैं। पत्रकारवार्ता में टिमरनी एसडीओपी आके गहलोद व खिरकिया एसडीओपी राजेश सुल्या भी मौजूद थे। एसपी के मुताबिक 48 घंटे के भीतर सुलझे हत्या के इस मामले में साइबर सेल की महत्वपूर्ण भूमिका रही। आरोपियों की गिरफ्तारी में टिमरनी टीआई राजेश साहू, एसआई अविनाश पारधी, एसआई नरेंद्र उइके, एएसआई अनुज बघेल, प्रधान आरक्षक भूपेंद्र बाडीवा, प्रधान आरक्षक निलेश तिवारी, आरक्षक राकेश पटेल, आरक्षक महेश कुसारिया, आरक्षक सूरज सिसोदिया, आरक्षक मंगल कलमे व सैनिक मांगीलाल सोनी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
हरदा से भगवान दास सेन की रिपोर्ट