ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
थाना अन्तू के शातिर अभियुक्त वाहिद उर्फ वहीद के विरूद्ध 14(1) उ0प्र0 गिरोहबन्द एवं समाज विरोधी क्रिया कलाप निवारण अधिनियम-1986 के अन्र्तगत जब्तीकरण की कार्यवाही की गई।
August 21, 2020 • Aankhen crime par • उत्तरप्रदेश

थाना अन्तू के शातिर अभियुक्त वाहिद उर्फ वहीद के विरूद्ध 14(1) उ0प्र0 गिरोहबन्द एवं समाज विरोधी क्रिया कलाप निवारण अधिनियम-1986 के अन्र्तगत जब्तीकरण की कार्यवाही की गई।

   पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ की आख्या पर मा0 न्यायालय जिला मजिस्ट्रेट प्रतापगढ़ द्वारा दिनांक 10.08.2020 को दिये गये अपने आदेश में अभियुक्त वाहिद उर्फ वहीद पुत्र मो0 सिद्दीक नि0 जैतीपुर कठार थाना अन्तू जनपद प्रतापगढ़ के द्वारा अवैध रूप से अर्जित की गई सम्पत्ति को जनहित एवं न्यायहित में कुर्क किये जाने का आदेश दिया गया है। 

अभियुक्त का विवरण-

          वाहिद उर्फ वहीद पुत्र मो0 सिद्दीक नि0 जैतीपुर कठार थाना अन्तू जनपद प्रतापगढ़।

          पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ द्वारा थाना अन्तू के शातिर अभियुक्त वाहिद उर्फ वहीद पुत्र मो0 सिद्दीक के सम्बन्ध में जिला मजिस्ट्रेट प्रतापगढ़ को दिनांक 20.07.2020 को अवगत कराया गया कि उ0प्र0 गिरोहबन्द एवं समाज विरोधी क्रिया कलाप निवारण अधिनियम-1986 के अन्र्तगत मु0अ0सं0 40/18 धारा 2/3 गैंगेस्टर अधिनियम थाना अन्तू से सम्बन्धित अभियुक्त वाहिद उर्फ वहीद पुत्र मो0 सिद्दीक उपरोक्त एक शातिर आपराधिक प्रवृत्ति का व्यक्ति है जिसका लम्बा आपराधिक इतिहास है तथा उसका एक संगठित गिरोह है जिसका वह गैंग लीडर है। इसके द्वारा वर्ष 2009 से लगातार आपराधिक कृत्यों में लिप्त होकर हत्या तथा गोवंश की तस्करी करके अपने आर्थिक, भौतिक, दुनियावी व अन्य अनुचित लाभ के लिये भा0द0वि के अध्याय 16 व गोवध निवारण अधिनियम में वर्णित अपराध किया जा रहा है। इन्हीं आपराधिक कृत्यों से अर्जित की गई उसकी मोटर साइकिल जिसकी कीमत 44,000/- रू0 है, को धारा 14(1) उ0प्र0 गिरोहबन्द एवं समाज विरोधी क्रिया कलाप निवारण अधिनियम-1986 के अन्र्तगत कुर्क कराने का अनुरोध किया गया था। 
इसी क्रम में मा0 न्यायालय जिला मजिस्ट्रेट प्रतापगढ़ द्वारा दिनांक 10.08.2020 को अभियुक्त वाहिद उर्फ वहीद पुत्र मो0 सिद्दीक नि0 जैतीपुर कठार थाना अन्तू जनपद प्रतापगढ़ के द्वारा अवैध रूप से अर्जित की गई सम्पत्ति को जनहित एवं न्यायहित में कुर्क किये जाने का आदेश दिया गया, जिसका अनुपालन किया गया।

अभियुक्त वाहिद उर्फ वहीद पुत्र मो0 सिद्दीक का आपराधिक इतिहास

क्र0सं0 मु0अ0सं0  धारा

01. 222/09 3/5ए/8 गोवध निवारण अधिनियम
02. 71/12 3/5ए/8 गोवध निवारण अधिनियम
03. 171/15 3/5ए/8 गोवध निवारण अधिनियम
04. 188/15 3/5ए/8 गोवध निवारण अधिनियम
05. 362/15 2/3 गैंगेस्टर एक्ट
06. 267/18 302 भादवि
07 20/19 2/3 गैंगेस्टर एक्ट