ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
सोसायटी फॉर प्राइवेट स्कूल डायरेक्टर्स का ब्लॉक स्तरीय क्रमिक धरना प्रदर्शन जारी है
September 11, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

होशंगाबाद-सोसायटी फॉर प्राइवेट स्कूल डायरेक्टर्स का ब्लॉक स्तरीय क्रमिक धरना प्रदर्शन जारी है एवं विश्वास सारंग, चिकित्सा शिक्षा, भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास मंत्री, म.प्र. शासन, भोपाल म.प्र. को प्राइवेट स्कूलों की मान्यता नवीनीकरण के संबंध में एक मांग पत्र भी दिया है जिसमें कहा कि उपरोक्त्त विषयान्तर्गत आपको अवगत कराया जाता है कि पूर्व में राजपत्र 2015 का 4.2 एवं 5.2 के नियमानुसार प्राइवेट स्कूलों की मान्यता का नवीनीकरण वर्ष 2015 से वर्ष 2020 तक 5 वर्ष के लिए किया गया था एवं शिक्षा विभाग द्वारा प्राइवेट स्कूलों को कोरोना काल में सत्र, 20 20-2021 की मान्यता का निजीकरण किया जा चुका है एवं वर्ष 2021-22 की माव्यता का नवीनीकरण हेतु आवेदन कि दिनांक 15 सितम्बर 20.20 रखी गई है। जिसमें अनेक प्रकार के नियम है जिसमें रजिस्टर्ड किरायानामा अनिवार्य किया गया है।
किरायानामा रजिस्टर्ड करवाने मे रजिस्ट्री के बराबर खर्च आ रहा है और मकान मालिक द्वारा रजिस्टर्ड किरायानामा बनाने को मना किया जा रहा है अंतः रजिस्ट किरायानाम को समाप्त कर 5000/- के स्टाम्प पर नोटराईज किरायानामा मान्य किया जाए। शिक्षा विभाग द्वारा जिस प्रकार 2020-2021 की मान्यता का नवीनीकरण बिना किसी निरीक्षण परीक्षण के कर दिया गया है। उसी प्रकार पूर्व से संचालित शिक्षा विभाग एवं मा.शि मं. से मान्यता प्राप्त विद्यालयों की मान्यता का नवीनीकरण अगले 5 वर्षों के लिऐ बिना किसी निरीक्षण परीक्षण के कर दिया जावे एवं मान्यता आवेदन की तिथि कम से कम 2 माह के लिए आगे बकाया जाएं एवं मान्यता शुल्क की राशि का भुगतान एक मुश्त न लेकर किश्तों में प्रतिवर्ष ली जाये, प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन म.प्र. मांग करता है कि कोरोना महामारी के चलते हुए स्कूल पूर्ण रूप से बंद है। अतः उपरोक्त समस्याओं का तत्काल निराकरण करवाने काष्ट करे।
प्रदीप गुप्ता की रिपोर्ट