ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
सिवनीमालवा वन परिक्षेत्र के उत्पादन डिपो से जलाऊ चट्टे की फडी गायब
July 21, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

सिवनीमालवा वन परिक्षेत्र के उत्पादन  डिपो से जलाऊ चट्टे की फडी गायब

डीएफओ ने सिवनीमालवा के एसडीओ को लिखा भौतिक सत्यापन के लिए पत्र

नीलामी मे चट्टे खरीदी करनें वाले क्रेताओं  ने की थी डीएफओ को शिकायत,शिकायत के बाद जांच शुरु
होशंगाबाद।  सामान्य वन मंडल की सिवनीमालवा रेंज एक बार फिर चर्चाओ मे आ गई गई है। सूत्रों की माने तो सिवनीमालवा वन परिक्षेत्र मे जगह नही होने के कारण बानापुरा वन परिक्षेत्र कार्यालय के समीप सिथत जगह पर उत्पादन का माल रखा जा रहा है। बताया जाता है कि सिवनीमालवा वन परिक्षेत्र मे पदस्थ एक जिम्मेदार अधिकारी की लापरवाह पूर्ण कार्यशैली के चलते जलाऊ चट्टे कीं लगभग  58-60 फडी गायब हो गई। और विभाग के जिम्मेदारो सोते रहे।इस पूरे मामले का खुलासा उस समय हुआ जब होशंगाबाद सामान्य वन मंडल के ऊर्जावान डीएफओ अजय कुमार पांडे ने सिवनीमालवा के वन एसडीओ को पत्र भैजकर भौतिक सत्यापन सहित अन्य बिन्दुओ से अवगत कराया।डीएफओ के पत्र के बाद से सिवनीमालवा वन परिक्षेत्र कार्यालय के जिम्मेदारो के चेहरो की हवाईया उडती नजर आ रही है। गौरतलब रहे कि जब फडियो को रखा जाता है तो उनमे सिटक लगाई जाती है और सबंधित रेजंर अपनी आखो से देखने के बाद ही दस्तावेजो मे पुष्टि करता है। सूत्र बता रहे है सिवनीमालवा वन परिक्षेत्र कार्यालय मै सब काम हवा हवाई चल रहा है।जिसका साक्षात ये उदाहरण है कि 100 से जयादा फडियो की नीलामी हो जाती है और क्रेताओं को मौके पर मात्र 68- 70 फडी ही मिली। बाकी फडी कौन निगल गया जमीन या आसमान यह जांच का विषय है।बहरहाल जिले के ऊर्जावान डीएफओ  अजय कुमार पांडे की तेजतर्रार कार्यशैली के चलते अब ऐसे लापरवाह और जिम्मेदार कर्मचारी की खैर नही जो कि वन विभाग को चूना लगाते हुए विभाग की छबि को धूमिल कर रहे है।सूत्र बता रहे है कि 160 लाटो की नीलामी हुइ जिसमे 70 ही मौके पर मिली। सूत्रों की माने तो सिवनीमालवा रेंज के एक जिम्मेदार अधिकारी ने बिना stacking  के ही जलाऊ चट्टो को नीलाम कर दिया ऐसी खबर सूत्रों के हवाले से आ रही है।  वही सूत्रों का कहना है कि इस मामले मे लगभग डेढ से दो लाख रुपये की रिकवरी सबंधित अधिकारी व कर्मचारीयो से वसूली की जा सकतीं हैं। बहरहाल मामला गंभीर