ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
सिखों के पवित्र धाम हेमकुंड साहिब के कपाट शनिवार दोपहर 1ः30 बजे शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए। 
October 10, 2020 • Aankhen crime par • उत्तराखंड

चमोली उत्तराखंड,रिपोर्ट केशर सिंह नेगी

सिखों के पवित्र धाम हेमकुंड साहिब के कपाट शनिवार दोपहर 1ः30 बजे शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए।

 

हेमकुंड साहिब के कपाट बंद होने के दौरान करीब 1350 सिख श्रद्वालुओं का जत्था अंतिम अरदास का साक्षी रहा। 

हेमकुंड साहिब के कपाट बंद होने की प्रक्रिया शनिवार सुबह 5 बजे से शुरू हो गई थी। 

सुबह 5:00 बजे नित्य नियमों की वाणी के साथ सुबह 9.30 बजे पहली अरदास की गई

 जिसके बाद तड़के 10 बजे सुख वाणी का पाठ और 11 बजे शबद कीर्तन किया गया दोपहर 12ः30 बजे इस साल की अंतिम अरदास पढने के बाद गुरू ग्रंथ साहिब को पंच प्यारों की अगुवाई में सचखंड में विराजमान कर दिया गया है

और दोहपर 1ः30 बजे हेमकुंड साहिब के कपाट पूरे विधि विधान के साथ शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए है 

इस वर्ष कोरोना महामारी के चलते हेमकुंड साहिब के कपाट देर से 04 सितंबर को श्रद्वालुओ के लिए खोले गए थे। 

इस साल 36 दिनों तक चली यात्रा में करीब 8500 श्रद्वालुओं ने हेमकंड साहिब में मत्था टेका।