ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
शिक्षक दिवस का विरोध कर 5 सितंबर कोअतिथि शिक्षकों का जेल भरो आंदोलन।
September 1, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

शिक्षक दिवस का विरोध कर 5 सितंबर कोअतिथि शिक्षकों का जेल भरो आंदोलन।

बैतूल/सारनी। कैलाश पाटिल

अतिथि शिक्षक अपनी नियमितीकरण की मांग को लेकर लंबे समय से संघर्षरत है। नियमितीकरण को लेकर कई बार अतिथि शिक्षकों ने भूख हड़ताल, धरना प्रदर्शन और जल सत्याग्रह आंदोलन करने के बाद भी पूर्व की और वर्तमान सरकार ने कोई सकारात्मक निर्णय अतिथि शिक्षकों के हित में नहीं लिया। अतिथि शिक्षक संघ बैतूल के जिलाध्यक्ष केसी पवार ने बताया कि लगभग 15 वर्षों से अतिथि शिक्षकों ने हमेशा प्रदेश सरकार की शिक्षा व्यवस्था को सुचारु रुप से संचालित रखने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है लेकिन इसके बावजूद सरकार ने आज तक अतिथि शिक्षकों को नियमित करने के संबंध में कोई ठोस निर्णय नहीं लिया, सिर्फ घोषणा और आश्वासन दिया। प्रदेश की भाजपा और कांग्रेस सरकार दोनों ने ही अतिथि शिक्षकों के साथ छलावा करने का ही काम किया है। आज अतिथि शिक्षकों की आर्थिक स्थिति दयनीय है और कोरोना वैश्विक महामारी में लाकडाउन के दौरान और भी ज्यादा कमजोर हो गई है। जिससे अतिथि शिक्षकों को अपने परिवार का भरण पोषण कर पाना मुश्किल हो रहा है। वही कुछ अतिथि शिक्षकों ने आर्थिक तंगी की वजह से आत्महत्या का कदम भी उठा लिया है। अब अतिथि शिक्षक प्रदेश सरकार की मनसा समझ नहीं पा रहा है जिसकी वजह से 5 सितंबर को अतिथि शिक्षक संघ के प्रदेश कार्यकारिणी के आह्वान पर शिक्षक दिवस का विरोध करते हुए जेल भरो आंदोलन करेगा जिसके लिए अतिथि शिक्षक संघ बैतूल के जिलाध्यक्ष केसी पवार और घोड़ाडोंगरी ब्लाक के कैलाश पाटिल, स्वयंप्रकाश सूर्यवंशी और शशांक मंडल ने समस्त अतिथि शिक्षकों से अपील की है कि 5 सितंबर को सुबह 11 बजे कर्मचारी भवन बैतूल में अपनी उपस्थिति देकर इस जेल भरो आंदोलन को सफल बनाएं और अपनी नियमितीकरण की मांग प्रदेश सरकार से मनवाएं।