ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
शहर के बीचोबीच नये जयस्थंभ के पास करोड़ों की नजूल भूमि गायब
August 6, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

शहर के बीचोबीच नये जयस्थंभ के पास करोड़ों की नजूल भूमि गायब

         होशंगाबाद -- नजूल विभाग के अफसरों की मनमानी से होशंगाबाद नगर के मध्य करोड़ों रूपये मूल्य की 25 हजार 690 वर्गफिट खुली नजूल भूमि को अवैध रूप से ठिकाने लगाने का पता चला है। उक्त सम्पत्ति किसने किसे खुर्द-बुर्द की, अभी किसके नाम पर है आदि की जानकारी नजूल विभाग के पास नहीं है, उल्टे गायब उस भूमि पर  आलीशान मकान और बिल्डिगें बनी है, उस भूमि को नजूल विभाग आज भी अपने रिकार्ड में रिक्त प्लाट बताकर गुमराह कर रहा है। नजूल विभाग के रिकार्ड के अनुसार आज भी वह खुली भूमि है तब प्रश्न उठता है कि वह खुली भूमि कहाँ गायब हो गयी, यह अनुसंधान का विषय है जिसकी जांच हेतु नागरिक अधिकार जनसमस्या निराकरण समिति के अध्यक्ष आत्माराम यादव ने होशंगाबाद कलेक्टर एवं कमिश्नर से उक्त गायब भूमि को सीमाचिन्हों से नप्ती कराने के मांग की है। 

                     नागरिक अधिकार जनसमस्या निराकरण समिति के अध्यक्ष आत्माराम यादव ने जब उक्त रिकार्ड नजूल विभाग से प्राप्त किया तब  शहर के बीचोबीच नयेजयस्तम्भ चौक से होते हुये अर्जुन काम्पलेक्स के सामने कुम्हार गली के नाले से होते हुये एडव्होकेट शंकरसिंह ठाकुर की धर्मशाला तक के नजूल शीट नं.20 प्लाट नं॰ 239 की 3115 वर्गफिट एवं प्लाट नं.241/1 की 22, 575 वर्गफिट की खुली जगह कुल क्षैत्रफल 25690 वर्गफिट  की जानकारी चाही तो नजूल के खसरे रिकार्ड व नक्शे में उक्त दोनों प्लाट पर उक्त भूमि को रिक्त बतलाया जबकि उक्त दोनों प्लाटों पर कोई भी भूमि रिक्त नहीं है और वहाँ व्यवसायिक एवं आवासीय परिसर व दुकानों का जंजाल खड़ा है। नजूल विभाग जिसे अपने रिकार्ड में सालों से और वर्तमान में भी खुली भूमि बताता आ रहा है उसपर कब किसे,किस प्रकार प्लाटों का हस्तान्तरण , नामान्तरण एवं निर्माण किया गया, यह यक्षप्रश्न अपने आप में नजूल विभाग द्वारा रिकार्ड का सही संधारण न करने से पूरे विभाग को संदेह के कटघरे में खड़ा किये हुये है। 

                                श्री यादव के अनुसार अगर उक्त प्लाटों के अलावा नगर में नजूल रिकार्ड में अन्य सभी नजूल शीटों पर रिक्त बतलाये गये प्लाटों की जांच की जाये तो कई चैकाने वाले तथ्य उजागर होगे और उन रिक्त प्लाट की जगह निर्माण मिलेगा। यह एक बहुत बड़ा भ्रष्टाचार होगा जिसमें नजूल विभाग के कई राजस्व निरीक्षक, पटवारी, सहित नजूल कलेक्टर एवं कर्मचारियों पर आंच आयेगी। नागरिक अधिकार जनसमस्या निराकरण समिति के अध्यक्ष ने स्थानीय सतरास्ते से नर्मदाघाट तक के मुख्य बाजार क्षैत्र एवं उसमें आने वाले रहवासी क्षैत्र  सहित जिला चिकित्सालय अस्पताल से मंगलवारा घाट तक मोहल्ले एवं बाजार क्षैत्र में नजूल भूमि पर किये गये अतिक्रमण के रहते प्रमुख मार्गो की दुकानें सड़क पर होने से वे सकरी होने तथा खसरे में नामांकित/दर्ज नजूल भूमि व पटटे पर प्राप्त भूमि के क्षैत्रफल से दुगुनी भूमि पर लोगों द्वारा पक्के निर्माण होने से अतिक्रमण के विस्फोटक होने की बात की है । श्री यादव के अनुसार अगर अतिक्रमण हटाने की मंशा से कार्यवाही की जाये तो यह शहरी क्षैत्र खण्डहर में बदल सकता है, बशर्ते अतिक्रमण हटने से बाजार क्षैत्र में दबाव कम होगा और आये दिन यातायात जैसी समस्याओं से भी मुक्ति मिल सकेगी।

Attachments area