ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
शालाओं की किचिन गार्डन में तैयार हो रही सब्जी की फसल (खुशियों की दास्तान)
October 17, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश
शालाओं की किचिन गार्डन में तैयार हो रही सब्जी की फसल (खुशियों की दास्तान)
-
कटनी | 17-अक्तूबर
 
स्कूली बच्चों को मिलने वाले मध्यान्ह भोजन में जैविक और ताजी सब्जियां सहज रुप से उपलब्ध कराने की व्यवस्था के तहत रीठी विकासखण्ड के माध्यमिक शाला रुडमूड और भरतपुर की शासकीय माध्यमिक शालाओं की किचिन गार्डन में हरी सब्जियों की फसलें तैयार हो गई हैं।
            जनपद पंचायत रीठी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रदीप सिंह ने बताया क जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी जगदीश चन्द्र गोमे के मार्गदर्शन में शासन की मंशानुसर कुछ चिन्हित शासकीय विद्यालयों में हरी सब्जी तैयार करने की योजना बनाई गई। सिंचाई के लिये पानी की उपलब्धता और सुरक्षित बाउन्डरी वॉल युक्त शालाओं को चिन्हित कर किचिन गार्डन विकसित करने 5-5 हजार रुपये की राशि भी जिला पंचायत के द्वारा प्रदाय की गई। किचिन गार्ड तैयार करने में शालाओं के स्टाफ के साथ मध्यान्ह भोजन बनाने वाले स्वसहायता समूहों की महिलाओं का भी भरपूर सहयोग लिया गया। रीठी विकासखण्ड के बड़गांव जनशिक्षा केन्द्र की दो शालाओं माध्यमिक शाला रुडमूड और भरतपुर में शानदार किचिन गार्डन तैयार होकर हरी सब्जियों की फसल लहलहा रही है। दोनों ही किचिन गार्डन में बरबटी, कुम्हड़ा, तुरई, भिण्डी की अच्छी पैदावार हो रही है। स्वसहायता समूह और विद्यालय के स्टाफ ने गार्डन को ईटों से सजाकर बेहतर स्वरुप दिया है और प्रतिदिन पौधों की सिंचाई, गुड़ाई तथा देखरेख इन्ही के द्वारा की जाती है। जनशिक्षक विपिन तिवारी बताते हैं कि इन दोनो विद्यालयों के किचिन गार्डन को देखकर बाउन्डरी वॉल और पानी की सुविधा वाले जनशिक्षा केन्द्र के अन्य विद्यालयों के शिक्षा भी बिना किसी सहायता के किचिन गार्डन विकसित करने की तैयारी कर रहे हैं। कोरोना काल में भले ही शालाओं में पठन-पाठन की गतिविधियां अभी नहीं चल रही हैं। फिर भी बच्चों के मध्यान्ह भोजन के लिये जैविक पद्धति से तैयार की जा रही हरी सब्जियां उपलब्ध हो रही हैं। ग्रामीण और बच्चों के अभिभावकों ने कोरोना काल में शिक्षकों के इस प्रयास की सराहना की है।