ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
सतना नगर निगम के वार्ड क्रमांक 40-41 में चली जेसीबी मशीन, दिखेगा बदलाव
July 14, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

सतना नगर निगम के वार्ड क्रमांक 40-41 में चली जेसीबी मशीन, दिखेगा बदलाव

सतना। विंध्य प्रदेश के रीवा और सतना नगर निगम एरिया में जल निकासी के बेहतर इंतजाम धरातल पर नजर नहीं आए हैं। यही वजह है कि आधे घंटे की बरसात के कारण दर्जन भएक गया, यही वजह है कि एक समान भाव से शहर मुख्यालय में बसी सभी रिहायशी कालोनियों में डेवलपमेंट तरीके से नहीं हो पाया। जलभराव की समस्या झेलने वाले सतना नगर निगम के वार्ड क्रमांक 40-41 में बजरहा टोला मोड़ से लेकर पुराने मुख्य डाकघर तक दुकानों और घरों के सामने कराए गए अवैध निर्माण कार्यों को जेसीबी मशीन से ढहाने का काम मंगलवार की दोपहर किया गया। जेसीबी मशीन से अवैध निर्माण कार्य को तोड़ने के साथ साथ इस पूरे क्षेत्र में पानी निकासी के लिए बड़ी नालियों का निर्माण कार्य प्राथमिकता के साथ कराया जा रहा है। जिससे कि बरसात होने पर जलभराव होने के बजाय पूरा सड़क का पानी सुविकसित नालियों से बाहर निकल जाए। 

बजरहा टोला में सड़क पर घुटनों तक पानी

सतना नगर निगम में शहर सरकार बनाने का सबसे अधिक मौका भारतीय जनता पार्टी को मिला है। इसके बाद भी विकास का ढिंढोरा पीटने के साथ ही जुमलों की बौछार करने वाली राजनैतिक पार्टी के सदस्य गण शहर से कहीं ज्यादा स्वयं के विकास को प्राथमिकता देना जरूरी समझते थे। यही वजह है कि शहर विकास के नाम पर पानी की तरह जनता का पैसा बहाया गया, जमकर कमीशनबाजी का खेल चलता रहा पर बुनियादी विकास कार्य अधिकांश रिहायशी कालोनियों में नजर नहीं आया। वार्ड क्रमांक 40-41 की सीमा में आने वाली बजरहा टोला कालोनी में बरसात होते ही पूरी सड़क पर जलभराव का दृश्य निर्मित हो जाता है। यही वजह है कि आयुक्त अमनवीर बैस के आदेश पर मंगलवार को जेसीबी मशीन के सहारे घरों और दुकानों के सामने कराए गए अवैध निर्माण कार्य को ढहाने का काम किया गया। बजरहा टोला में बनी सड़क के दोनों तरफ अतिक्रमण को चिंहित कर गिराने की कार्यवाही को अंजाम दिया गया है। इसके साथ ही साथ इस पूरे क्षेत्र में जल निकासी के लिए सुविकसित नालियों का निर्माण कार्य भी नगर निगम द्वारा करवाया जा रहा है। 

एक जमाने बाद यहां साफ हुआ मलवा
सतना नगर निगम का स्वास्थ्य विभाग केवल कागजी घोड़े दौड़ाने तक सीमित रहता है। इस वजह से सप्ताह या फिर पखवाड़े के अंदर शहर में पूर्व से मौजूद नालियों का पूरा मलवा साफ हो जाना चाहिए, वह काम गाहे बगाहे ही संभव हो पाता है। मंगलवार की दोपहर में जहां एक तरफ जेसीबी मशीन अवैध पक्के निर्माण कार्य को ध्वस्त करने में लगी रही तो वहीं दूसरी ओर पुराने मुख्य डाकघर की तरफ से नाली का मलवा साफ कराया जा रहा था। नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग में बेलगाम और गैर जिम्मेदार लोगों की तैनाती के कारण ही शहर में स्वच्छता अभियान का जनाजा निकल जाता है। बरसात के पूर्व नालियों और नालों की सफाई अनिवार्य कराने का प्रावधान है, जिसे धरातल से कहीं ज्यादा कागजों में तरीके से पूरा किया जाता है।

शिखा सोनी जिला ब्यूरो केमरामैन पुरूषोत्तम सोनी एसीपी न्यूज़ इंडिया