ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों में रिक्त उचित मूल्य की दुकानों का आवंटन क्रियाशील स्वयं सहायता समूहों को कराया जाये-जिलाधिकारी
September 2, 2020 • Aankhen crime par • उत्तरप्रदेश

सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों में रिक्त उचित मूल्य की दुकानों का आवंटन क्रियाशील स्वयं सहायता समूहों को कराया जाये-जिलाधिकारी

 शासन के आदेश के क्रम में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों में रिक्त उचित मूल्य की दुकानों का आवंटन स्वयं सहायता समूहों को प्राथमिकता से प्रदान करने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार की अध्यक्षता में कल सायंकाल कैम्प कार्यालय के सभागार में समीक्षा की गयी। बैठक में डीसी एनआरएलएम द्वारा बताया गया कि जनपद में 39 ग्राम पंचायतों में कोटे की दुकाने रिक्त है जिनमें से 18 गांव में राष्ट्रीय गा्रमीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत स्वयं सहायता समूहों का गठन किया गया है, इनमें से 10 गांव में सक्रिय स्वयं सहायता समूहों को उचित मूल्य की दुकान के आवंटन का प्रस्ताव ग्राम पंचायत द्वारा पारित करा लिया गया है तथा 21 गांव में स्वयं सहायता समूह अभी क्रियाशील नही है। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि जिन ग्राम पंचायतों में प्रस्ताव पारित कर लिया गया है उनकी पत्रावली तत्काल सम्बन्धित तहसील के उपजिलाधिकारी को प्रेषित की जाये। उन्होने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देशित किया कि आगामी सप्ताह में प्रक्रिया पूर्ण कर आवंटन की कार्यवाही कराये तथा जिन ग्राम पंचायतों में स्वयं सहायता समूहों का गठन नही किया गया है उनमें अविलम्ब समूह गठन कराया जाये एवं उन्हें सक्रिया किया जाये ताकि उचित मूल्य की दुकान आवंटन होने पर उनके संचालन विधि का प्रशिक्षण एवं कार्यशील पूंजी आदि की व्यवस्था उपायुक्त एनआरएलएम व जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा की जा सके। उन्होने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देशित किया कि यदि ग्राम पंचायत में दुकान निरस्त है या रिक्त है तो प्राथमिकता के आधार पर यथाशीघ्र स्वयं सहायता समूह को वरीयता देते हुये आवंटन कराया जाये, इसके अतिरिक्त जिन दुकानों का आवंटन अनुकम्पा के आधार पर प्रस्तावित है वहां यह नियम लागू नही होगा। बैठक में जिलाधिकारी ने आशा व्यक्त करते हुये कहा कि स्वयं सहायता समूहों को दुकानों का आवंटन किये जाने से महिलाओं को आर्थिक सशक्तीकरण किये जाने में मदद मिलेगी तथा उनमें नेतृत्व की भावना पैदा होगी। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देशित किया कि अभी जिन गांवों में प्रस्ताव नही पास हुआ है अविलम्ब उन गांवों में ग्राम पंचायत का प्रस्ताव पारित कराकर वहां भी आवंटन की प्रक्रिया पूर्ण की जाये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अश्विनी कुमार पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार, डीसी एनआरएलएम ओ0पी0 यादव, जिला पूर्ति अधिकारी सुनील कुमार उपस्थित रहे।