ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
राहत कार्यों में युद्ध स्तर पर जुटा प्रशासन अधिकारी बाढ़ प्रभावितों के राहत कार्य हेतु दिन-रात   काम करें 
September 1, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

राहत कार्यों में युद्ध स्तर पर जुटा प्रशासन अधिकारी बाढ़ प्रभावितों के राहत कार्य हेतु दिन-रात   काम करें 
 
एसडीएम कंट्रोल रूम के माध्यम से राहत कार्यों की सतत मॉनिटरिंग करे 
 
आरबीसी 6(4 )के राहत प्रकरणों को तत्काल स्वीकृत करे 

 बाढ़ प्रभावित ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में  ग्राम /वार्ड वार राहत कार्य के लिए अधिकारियों  की लगाई गई ड्यूटी 

 
जिले में आई भीषण बाढ़ आपदा में बचाव कार्य से तत्परता पूर्वक निपटने के बाद अब प्रशासन राहत कार्यों हेतु युद्ध स्तर पर जुट गया है। कलेक्टर होशंगाबाद श्री धनंजय सिंह ने सभी विभागीय अधिकारी/ कर्मचारी एवं मैदानी  अमले को निर्देशित किया है कि वे बाढ़ आपदा से प्रभावितों के राहत कार्य हेतु 24 घंटे, दिन रात सक्रियता से कार्य करें , बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में हुई हानि का प्रावधान अनुसार आकलन कर ,आरबीसी 6/4 के  राहत प्रकरणों को तत्काल स्वीकृत करें ताकि पीड़ितों को शीघ्र सहायता पहुंचाई जा सके। 
          बाढ़ प्रभावित ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में ग्रामवार/वार्डवार राहत कार्यों हेतु अधिकारियों एवम् कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई   है ।  कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे प्रभावित इलाकों में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित कराएं। बाढ़ के पानी से दूषित हुए हैंडपंप एवं पेयजल स्रोतों को   24 घण्टे के अंदर क्लोरिनेशन सहित  वैज्ञानिक तरीके से  शुद्धिकरण  की कार्रवाई किए जाने तथा पेयजल स्रोतों की गुणवत्ता जांच की कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिए।
 मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया है कि संक्रामक बीमारियों से सुरक्षा हेतु चिकित्सक दलों का गठन कर उन्हें नियोजित करें। एएनएम एवं आशा  कार्यकर्ताओं के माध्यम से ओआरएस घोल के पैकेट्स  का वितरण किया जाए ,साथ ही बाढ़ प्रभावित इलाकों मे क्लोरीन की टेबलेट वितरित की जाए।  मलेरिया अधिकारी को निर्देशित किया गया  कि मलेरिया नियंत्रण हेतु  मलेरिया जांच की स्लाइड की संख्या बढ़ाई जाए  एवं जल भराव स्थानों पर सघन रूप से दवा का छिड़काव किया जाए। संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं को पशुओं के उपचार एवं टीकाकरण की कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए।
सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारियों एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को निर्देशित किया गया  है कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में सघन साफ सफाई का कार्य सुनिश्चित करें बाढ़ प्रभावित इलाकों में हाइपोक्लोराइट सॉल्यूशन एवं ब्लीचिंग पाउडर के छिड़काव की कार्यवाही की जाए। जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं सभी बाल विकास परियोजना अधिकारियों को गर्भवती माताओं एवं बच्चों को पोषण आहार वितरण कार्य का बेहतर क्रियान्वयन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए।
        सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को निर्देशित किया गया है कि वे अपने-अपने क्षेत्र में साफ-सफाई ,राहत प्रकरणों की स्वीकृति ,राशन वितरण ,मेडिकल कैंप, स्वच्छ पेयजल सहित राहत कार्यों की  कंट्रोल रूम के माध्यम से लगातार मॉनिटरिंग करे।
   उल्लेखनीय है कि आज मंगलवार को जिले में विभिन्न क्षेत्रों में सघन साफ सफाई अभियान चलाया गया ।  पेयजल स्त्रोतों के शुद्धिकरण एवं  हैंडपंपों में क्लोरिनेशन की कार्रवाई की गई। ।बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में हुई  फसल , मकान, समान की हानि का सर्वे का कार्य युद्ध स्तर पर समस्त अधिकारी एवं मैदानी प्रशासनिक अमले द्वारा किया जा रहा है। चिकित्सकों की टीम द्वारा मेडिकल कैंपों का आयोजन कर लोगों की स्वास्थ्य संबंधी जांच की गई।अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में बाढ़ पीड़ितों को राशन वितरण किया गया।