ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
प्राथमिक विद्यालय सवाड़ में वृहद रूप से वृक्षारोपण कर उनके संरक्षण का संकल्प लिया
July 26, 2020 • Aankhen crime par • उत्तराखण्ड

थराली चमोली रिपोर्ट केशर सिंह नेगी

श्रीदेव सुमन के बलिदान दिवस पर गया। इसके साथ ही बलिदान दिवस पर देर सांय तक कई प्रेरक कार्यक्रम आयोजित किए गए।
            श्रीदेव सुमन के बलिदान दिवस पर देवाल ब्लाक के सैन्य बाहुल्य गांव में कई कार्यक्रमों का आयोजन कर बलिदान दिवस के माध्यम से श्रीदेव सुमन को भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर राजकीय प्राथमिक विद्यालय में स्कूली छात्र-छात्राओं के साथ ही देवाल के ब्लाक प्रमुख दर्शन दानू,सवाड़ वार्ड की जिला पंचायत सदस्य आशा धलोला के नेतृत्व में गांव के पूर्व सैनिकों, पूर्व सैन्य अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों, ग्रामीणों, सहित सहकारिता, पशुपालन,वन विभाग आदि के कर्मचारियों व अधिकारीयों ने वृक्षारोपण कर रोपित पौधों के संरक्षण का संकल्प लिया। वृक्षारोपण के बाद विद्यालय प्रांगण में आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में ब्लाक प्रमुख दर्शन दानू ने श्रीदेवी सुमन के बलिदान को याद करते हुए कहां की।राजसाही के खिलाफ आम लोगों को उनके वास्तविक हक दिलाने के लिए जो संघर्ष व कुर्बानी श्रीदेव सुमन ने दी उसे सदियों तक याद किया जाता रहेगा।इस अवसर पर जिपंस आशा धपोला ने कहां की आज के इस दौर में जब सरकारों के द्वारा आम जनता के अनुरूप काम नही किये जाते हैं तो लोग श्रीदेव सुमन की तरह ही बलिदान देते आ रहे हैं। उन्होने कहा कि उत्तराखंड राज्य भी भेट में नही मिला है।इस की स्थापना की नींव में भी दर्जनों लोगों ने अपनी शहादत देते हुए इस राज्य की नींव रखी है।अब इस राज्य को सजाना एवं सवारना हम सभी का प्रथम कर्तव्य है।सवाड़ गांव की ग्राम प्रधान कंचना मेहरा ने सवाड़ गांव के वीर सैनिकों के द्वारा स्वतंत्रता एवं उसके बाद आज तक देश सेवा में किए जा रहे योगदान का उल्लेख किया।इस मौके पर देवाल ब्लाक के एडीओं कृषि आशीष चौहान, उद्यान नितेश शर्मा, हेमंत जुयाल,सवाड़ के अध्यापक दर्शन सिंह धपोला, गोपाल मेहरा,गौरव सिंह खत्री, रमेश गड़िया आदि ने विचार व्यक्त किए।इस मौके पर विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने देश की आन,बान व शान पर कुर्बानी देने वाले शहिदों की शहादत पर कई आकृषक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।इस मौके पर कोविड़-19 से बचाव पर भी व्यापक रूप से चर्चा कर सामाजिक जागरूकता उत्तपन्न करने का भी प्रयास किया गया।