ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का उच्चीकरण और स्वास्थ्य सुविधाओं की मांगों की अनदेखियों पर संघर्ष करने के लिए हुई रणनीतिक बैठक।
September 15, 2020 • Aankhen crime par • उत्तराखण्ड

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का उच्चीकरण और स्वास्थ्य सुविधाओं की मांगों की अनदेखियों पर संघर्ष करने के लिए हुई रणनीतिक बैठक।

नारायणबगड़।
नारायणबगड़ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का उच्चीकरण तथा विशेषज्ञ डॉक्टरों की उपलब्धता सहित अन्य स्वास्थ्य संबंधी तकनीकी उपकरणों की मांग बहुत पुराने समय से यहां के लोगों और जनप्रतिनिधियों के द्वारा की जाती रही हैं।लेकिन अलग राज्य बन जाने के बाद भी लोगों की यह मांग अभी भी अधूरी ही है।सबसे बड़ा दुखद पहलू यह है कि पांचवीं बार नारायणबगड़ मूल के विधायक ही यहां से उत्तराखंड की विधानसभा में ताज पहनकर पहुंचते रहे हैंं।इन अनदेखियों से आहत होकर अभी हाल ही में यहाँ के नौजवानों और जनप्रतिनिधियों ने शासन प्रशासन के आला अधिकारियों को उक्त आशय के ज्ञापन भेजे थे।जिनका उंहे कोई भी प्रतिउत्तर के रूप मे सकारात्मक कार्यवाही की जानकारी नहीं दी गई।इस कारण मंगलवार को नौजवानों और जनप्रतिनिधियों के द्वारा एक रणनीतिक परिचर्चा के लिए बैठक का आयोजन किया गया।
बैठक में तमाम वक्ताओं ने नारायणबगड़ की उपेक्षाओं के लिए शासन प्रशासन और स्थानीय मूल के चुने जाते रहे विधायकों पर आरोप लगाए।पूर्व में भी पंचायत प्रतिनिधि रह चुके जनप्रतिनिधियों ने कहा कि पहले भी लगातार बीडीसी बैठकों में भी अस्पताल के उच्चीकरण की मांगे की जा चुकी हैं।परंतु हमेशा उनकी मांगों को कूडे की टोकरी में डाली जाती रही है।
बैठक के संयोजक अतुल सती ने कहा कि हमने शासन से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का उच्चीकरण की मांग रखी है।और साथ ही जबतक उच्चीकरण की कार्यवाही अमल में नहीं लाई जाती है तो प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में विशेषज्ञ डॉक्टर,तकनीकी उपकरण और तकनीकी विशेषज्ञ,महिला और बाल विशेषज्ञ डॉक्टर सहित एक मिनी ब्लड बैंक को सुचारू रूप से उपलब्ध कराने की भी मांग रखी है।बैठक में सभी ने एक स्वर में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का उच्चीकरण तथा अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए शासन प्रशासन के साथ लगातार वार्तालाप करने का निर्णय लिया है।बैठक में प्रधान संघ के अध्यक्ष मोनू सती,अनिल उनियाल, सुनील कोठियाल,मृत्युंजय परिहार,जयदीप रावत,मंजीत कठैत, रीना रावत,गुड्डी नेगी, आशुतोष नेगी,सुबोध भारद्वाज,प्रवीण नेगी,नरेन्द्र सिंह, सरीता देवी,रमेश गुसाईं,भरतसिंह, हैप्पी रौतेला,बिमलेश सती,कपिल,परवेश आदि ने अपने सुझाव रखे।