ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
फिर सामने आई पुलिस की ज्यादती,                                
July 30, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

होशंगाबाद- आज लगभग 8 युवक शोभापुर से आए और पुलिस अधीक्षक को एक ज्ञापन दिया, जिसमें कहा कि हम सभी शोभापुर लोडिंग चालक अपना व्यवसाय सप्ताह में एक-दो दिन माल एवं एक या दो जानवर जैसे भैंस बकरी को यहां से वहां छोड़ने जाते रहते हैं पहले भी एसआई ने कुछ पैसे लेकर छोड़ दिया करते थे पर आज जहीद आत्मज शफीशा और कलीराम अहिरवार आत्मक जगन सिंह अहिरवार की लोडिंग गाड़ी पकड़ ली और हमसे प्रति गाड़ी ₹20000 मांग कर रहे थे, शोभापुर में आरक्षक दीपेश और अंकित ने हमारी गाड़ी पकड़ कर एसआई राजपूत को सौंप दी थी और बताया कि हमने गाड़ी किस्त पर ली है जो कि हर महीने माल से यहां से वहां करके गाड़ी की किस्त चुकाना पड़ता है यदि हम इस तरह ही चलता रहा तो हमारा व्यवसाय बंद हो जाएगा और हमारे परिवार का पालन पोषण नहीं हो पाएगा हम सभी लोडिंग मालिक एवं चालकों को डर लगता रहता है कि हम ₹300 प्रतिदिन कमाते हैं और ₹20000 देना पड़ता है तो हमारे परिवार कैसा चलेगा, जब हमने  थाना प्रभारी महेंद्र सिंह से बात की तो उन्होंने बताया ट्राफिक जाम था एवं यह लोग अपनी गाड़ी आगे निकालकर ट्रैफिक को जाम कर रहे थे तब आरक्षक लोग इन्हें थाने लाए मारपीट के निशान पर उन्होंने बताया उनके साथ कोई मारपीट नहीं की गई जबकि पीड़ित ने हमें बताया उसके दोनों के पैर मे मारने के निशान थे और पैर लाल हो गए थे।                प्रदीप गुप्ता की रिपोर्ट