ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
पेयजल योजना से छूटे दो वार्डों की जलापूर्ति प्रतिस्पर्धा कराकर जो सस्ती-सुलभ हो उसे लागू करे –यादव
September 23, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

पेयजल  योजना से छूटे दो वार्डों की जलापूर्ति प्रतिस्पर्धा कराकर जो सस्ती-सुलभ हो उसे लागू करे –यादव
 होशंगाबाद। पेयजल  योजना के नल कनेक्शन वार्ड नं. 3 एवं 30 में न लगाकर सड़क खोदने आदि नुकसान से बचते हुये पूर्व टयूबबेल व्यवस्थानुसार जलापूति की यथावत रखा जाकर नये अमृत जल कनेक्शन के नाम पर अवैध वसूली पर तत्काल रोक लगाकर पूर्व कनेक्शन राशि पेयजल  योजना में समायोजित करने की मांग नागरिक अधिकार जनसमस्या निराकरन समिति के अध्यक्ष आत्माराम यादव ने नगरपालिका प्रशासक पदेन कलेक्टर से करते हुये मुख्य नगर पालिका अधिकारी माधुरी शर्मा को ज्ञापन सौपा। नागरिक अधिकार जनसमस्या के अध्यक्ष श्री यादव के अनुसार नगर के सभी वार्डो में नगरपालिका द्वारा पूर्व ही करोड़ों रूपये खर्च कर कुछ पुराने कुओं से तथा कुछ नये टयूबबेल के माध्यम से पाईप लाईन बिछाकर प्रत्येक वार्ड में घर-घर नल कनेक्शन दिये है जिससे किसी भी स्थान पर किसी भी प्रकार की कोई जलआपूर्ति बाधित नहीं थी। बाबजूद बिना नगरजनों की स्वीकृति के, बिना उनके पेयजल  प्राप्ति हेतु करोड़ों खर्चे को मिटटी में मिलाकर नये करोड़ों रूपये खर्चे और मीटर से जल प्राप्ति की जानकारी दिेये कुछ तत्कालीन नपा परिषद व उसके पार्षदों ने कमीशन के चक्कर में नगरजनों के अधिकार का सोदा करके पेयजल योजना के नाम पर नर्मदाजल जबरिया दिये जाने के लिये मोहल्ले-मोहल्ले में अपनी टीम ले जाकर कनेक्शन दिये। नगर के जागरूक एवं वार्ड की जनता के हितैषी वार्ड नम्बर 3 के पार्षद नवीनकुमार पालीवाल उर्फ दीपू एवं वार्ड नं.30 के पार्षद इमरतलाल उर्फ मुन्ना ग्वाला ने अपने वार्डो में पर्याप्त एवं निर्विरोध जलापूर्ति के साधन एवं साध्यों को देखते हुये अपने वार्ड की जनता का विश्वास कायम कर अपने-अपने वार्डो में इस योजना की जरूरत न समझ कर काम न कराकर सड़कों को खोदने के अपव्यय आदि के साथ जलमीटर से बचाये रखा, अब परिषद का कार्यकाल समाप्त होने के पश्चात नगरपालिका प्रशासनिक अमले की मदद लेकर इन दोनों वार्डों में ज \बरिया पेयजल योजना लागू करने का काम करके वार्डवासिों की भावनाओं को आहत कर धोखा देने को तत्पर है ओर इसके लिए वे पक्की सड़के नालिया खोदकर जनता के लिए परेशानी खड़ी करेगे।समिति ने मांग की है कि पेयजल कनेक्शन से छूटे इन दो वार्डो में पर्याप्त जलापूर्ति को ध्यान में रखते हुये जबरिया वार्ड की सड़कों पर खुदाई एवं नये कनेक्शन न कराये तथा पूरे नगर में इन दो वार्डो से पृथक वार्डो में अमृतजल योजना और पूर्व टयूबबेल व्यवस्था की पाँच साल प्रतिस्पर्धा कराकर, जो सस्ता हो उसे नगरजनों के हित में लागू करने की नीति पर काम करते हुये जिन वार्डो में ये कनेक्शन दिये है उनमें पूर्व कनेक्शन राशि समायोजित कर नयी राशि जबरिया न बसूली जाये ।