ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
नर्मदा आव्हान सेवा समिति होशंगाबाद व्दारा आनलाइन कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया
September 20, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

होशंगाबाद।नर्मदा आव्हान सेवा समिति होशंगाबाद व्दारा आनलाइन कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया।जिसमें देश के विभिन्न अंचलों से आंमत्रित कवियों ने ओज, हास्य, व्यंग्य की कविता प्रस्तुत कर खूब वाहवाही लूटी। होशंगाबाद की रक्षा पुरोहित की सुमधुर कोकिलकंठी स्वर के साथ सरस्वती वंदना से कवि सम्मेलन शुभारंभ हुआ। सांयकाल 5 बजे से प्रारंभ  होकर देर शाम तक चलता रहा।
      कवि सम्मेलन मे देश की प्रसिद्ध कवियत्री चेतना शर्मा ने नर्मदा आव्हान सेवा समिति व्दारा किये जा रहे साहित्यिक आयोजन पर सराहना करते हुए उन्होंने "गुड़िया या मैं चिड़िया कह दूँ या वीणा के तार कहूँ।मात पिता की लाठी कह दूँ,या घर की पतवार कहूँ सुनाया।संतोष शर्मा विदिशा ने कहा की "भेड़िए भी शांति के गीत गाने गाने वाले है।लगता है देश मे चुनाव आने वाले है"।
    कवि सम्मेलन को उँचाई प्रदान करते हुए मुलताई से युवा कवि दीपक साहू मुलताई ने कहा की "तेरी निगाहों के आमंत्रण की ज़द में आ गया सुरक्षा के बावजूद संक्रमण की ज़द में आ गया।
दिल की जमीं पर बनाया था प्यार का आशियां,तेरी बेरुखी से अतिक्रमण की ज़द में आ गया"। प्रो.डाँ.शरद नारायण खरे मंडला ने कहा कि " "।
      कविसम्मेलन का कुशल संचालन करते हुए रक्षा पुरोहित होशंगाबाद ने " ।इटारसी की प्रमीला किरण ने "नहीं मेरे बस में मेरा मन है देखो मुझे थाम लो‌ तो ये सौगात होगी"। होशंगाबाद की आरती शर्मा ने "वीरगति को प्राप्त सैनिको को समर्पित" प्रस्तुति देकर खूब वाहवाही लूटी‌। इस अवसर पर ग्रुप के पटल पर अनेक लोग उपस्थित रहे।
    अंत मे आभार प्रर्दशन समिति के प्रमुख किशोर केप्टन करैया ने किया।