ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
नगरपालिका कार्यालय में फेल सकती हैं महामारी कोरोना,
July 21, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

होशंगाबाद- नगरपालिका कार्यालय में फेल सकती हैं महामारी कोरोना, 
मजदूर संघ के कार्यकारी अध्यक्ष महेश वर्मा ने बताया हैं कि जो नगरपालिका प्रशासन होशंगाबाद आम जनता को कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए एनाउंसमेंट और कई तरह के प्रचार कर रही हैं उसी नगरपालिका में कोरोना महामारी फैलने का सबसे बडा खतरा बना हुआ हैं कार्यालय में पदस्थ कर्मचारी डर के कारण सामने आकर इस बात का विरोध नहीं कर पा रहे हैं परंतु दबी जुबान से सभी विरोध कर रहे है परंतु नगरपालिका प्रशासक और सीएमओ के कारण विरोध नही कर पा रहे हैं, दरअसल बात यह हैं कि कोरोना जैसी महामारी को लेकर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल डेंजर जोन पहले से ही घोषित हैं नगरपालिका में पदस्थ ऐसे कर्मचारी जो प्रति दिन अप-डाउन के माध्यम से चार पांच कर्मचारी अपनी ड्यूटी भोपाल से आकर होशंगाबाद नगरपालिका कार्यालय में दे रहे हैं और दूसरे पदस्थ कर्मचारियों से भी कार्यालय में काम के सिलसिले वार्ता करते हैं ऐसे में अगर भोपाल से आने वाला कर्मचारी संक्रमित हुआ तो उनके संपर्क में आने वाला भी कोरोना महामारी की चपेट में आ सकता हैं अगर ऐसा हुआ तो इसके लिए जबाबदार कौन रहेगा जिला प्रशासन या नगरपालिका अधिकारी यह एक सोचनीय और गंभीर विषय हैं जिसमे जिला प्रशासन नगरपालिका प्रशासन दोनो लापरवाही पूर्ण रवैया अपना रहे हैं जो कि नगर होशंगाबाद के लिए ठीक नहीं हैं, मजदूर संघ ने नगरपालिका कार्यालय में अप-डाउन करने वाले कर्मचारियों पर ड्यूटी करने वालो पर रोक लगाने की मांग की हैं साथ ही होशंगाबाद में बाहर से आकर दूसरे विभाग कार्यालय में जो कर्मचारी आकर ड्यूटी कर रहे हैं उन पर भी जिला प्रशासन रोक लगाये,,  बाहर से आने वाले कर्मचारियों के माध्यम से अगर होशंगाबाद में पदस्थ कर्मचारी कल के दिन कोरोना महामारी से संक्रमित होता हैं तो उसके लिए कार्यालय विभाग प्रमुख के प्रति कोरोना महामारी नियम के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर दोषी के विरूद्ध उचित कार्यवाही की जावे।        प्रदीप गुप्ता की रिपोर्ट