ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार का बड़ा ऐलान किसानों को 6 नहीं 10 हजार मिलेगी सम्मान निधि।
September 22, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार का बड़ा ऐलान किसानों को 6 नहीं 10 हजार मिलेगी सम्मान निधि।
 
बैतूल/सारनी। कैलाश पाटिल

भाजपा के सारनी ग्रामीण मंडल अध्यक्ष मोहन मोरे ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि केंद्र सरकार द्वारा दी जाने वाली किसान सम्मान निधि को प्रदेश की शिवराज सरकार द्वारा बल दिया गया है। जिसके अंतर्गत केंद्र सरकार देश के किसानों को किसान सम्मान निधि के रूप में 6 हजार रूपए वार्षिक दे रही थी, जिसकी 2 -2 हजार रुपए की तीन किस्त किसानो के खाते मे आती थी। उसी को बल देते हुए मध्य प्रदेश की किसान हितैषी शिवराज सिंह की सरकार ने किसान सम्मान निधि के रूप में 4 हजार रूपये अतिरिक्त मध्यप्रदेश के किसानों को देने का निर्णय लिया। जिससे अब प्रदेश के किसानों को कुल 10 हजार रुपए किसान सम्मान निधि के रूप मिलेंगे। किसानो के हित में निर्णय लेने से निश्चय ही मध्यप्रदेश के किसानों की आर्थिक स्थिति में बदलाव आएगा। मध्यप्रदेश का किसान खुशहाल और समृद्ध बनेगा, किसानी में नई-नई तकनीकों का उपयोग किसान कर सकेगा। आपदा की स्थिति में भी प्रदेश की सरकार द्वारा किसानों को फसल बीमा योजना के माध्यम से राहत पहुंचाई जा रही है। केंद्र और राज्य सरकार के साझा प्रयासों से प्रदेश का किसान सक्षम और मध्यप्रदेश समृद्धशाली प्रदेश बनेगा। ग्रामीण नेता मोहन मोरे ने बताया कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने गेहूं की MSP में 50 रूपए क्विंटल की वृद्धि, चना में 225 रूपये क्विंटल, जौं 75 रूपए क्विंटल, मसूर 300 रूपए क्विंटल, सरसों एवं रेपसीड-225 रूपये क्विंटल, कुसुम्भ 112 रूपये क्विंटल की ऐतिहासिक बढ़ोत्तरी केन्द्र सरकार द्वारा की है। यह ऐतिहासिक वृद्धि से किसानों की आय को दोगुना करने की दिशा में सार्थक प्रयास किया है।
किसानों के हित में लिए इस निर्णय का ग्रामीणों द्वारा स्वागत किया जा रहा है। किसान नेता फूलचंद यादव, जगदीश गोहे, लिखिराम यादव, देवी यादव, भंगी उईके, सुरेंद्र नर्रे, दीपक यादव, ललित यादव, बलसिंह ऊइके एवं अन्य ग्रामीण किसान नेताओं साथ किसानों ने भी केंद्र और राज्य सरकार के निर्णय का स्वागत कर आभार व्यक्त किया है।