ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
किसान संगठनो ने किसान विरोधी तीन अध्यादेशों का विरोध करते हुए दादरी के चिडिया रोड पर प्रदर्शन किया।
September 20, 2020 • Aankhen crime par • हरियाणा,पंजाब

चरखी दादरी (उमेश सतसाहेब) तीन अध्यादेशों का विरोध करते हुए संयुक्त किसान मोर्चा जिला चरखी दादरी के बैनर तले सभी किसान संगठनों ने एकत्रित होकर किसान महापंचायत कर चिड़िया रोड पर प्रदर्शन किया जिसकी अध्यक्षता वयोवृद्ध कमल सिंह मांढी एवं अतर सिंह सरपंच बलाली की अध्यक्षता में की गई। किसान पंचायत का संचालन भाकियू जिला संरक्षक रणबीर फौजी घिकाडा की देखरेख में चला भाकियू जिलाध्यक्ष जगबीर घसौला ने कहा कि किसानों पर थोपे गए तीन अध्यादेशों को वापस नहीं लिया गया तो आने वाले समय में किसान एक बड़ा आंदोलन करेंगे अध्या देशों के विरोध स्वरूप आज हमारे आंदोलन का यह पहला चरण है आने वाले दूसरे चरण में देश और प्रदेश के 80% आबादी किसान परिवार से जुड़ी हुई है अगर अन्नदाता के ऊपर अध्यादेश थोप कर उसे गुलाम बनाने की कोशिश की तो अब किसान और किसान संगठन चुप बैठने वाले नहीं हैं जिसकी आने वाले समय में मौजूदा सरकार को बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी जल्द ही हमारे सभी किसान संगठनों के प्रतिनिधि एक सिंह करके चर्चा करते हुए अगले दौर के आंदोलन की रणनीति तैयार करते हुए जानकारी दे दी जाएगी जाट संघर्ष समिति जिला अध्यक्ष राजकुमार हड़ोदी एवं लीलाराम समसपुर   ने कहा कि सरकार द्वारा लाए गए कानून किसानों को उद्योगपतियों के गुलाम बनाने वाले हैं जिन्हें किसी सूरत में हम बर्दाश्त नहीं करेंगे और किसान इन अध्या देशों के विरोध में जहां भी धरना प्रदर्शन करेंगे हमारा संगठन इनका कंधे से कंधा मिलाकर पूरा सहयोग करेगा खाक 19 प्रधान बलवंत फोगाट एवं सचिव शमशेर सिंह फोगाट ने कहा कि मौजूदा सरकार किसानों को कमजोर समझने की हिमाकत ना करें अन्यथा किसान अब एकजुट होकर सरकार को आईना दिखाने का काम करेंगे श्योराण खाप 25 के प्रधान बिजेंद्र बेरला ने कहा कि पूरे जिले के किसान आज संगठित होकर सरकार को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार बैठे हैं या तो समय रहते सरकार यह काले कानून वापस ले ले अन्यथा सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है चरखी दादरी में धरना किसानों के बीच महम से विधायक बलराज कुंडू ने पहुंचकर कहा कि मैं सरकार से इन अध्यादेश को लेकर मैं सरकार से 5 सवाल करना चाहता हूं अगर सरकार मेरे उन सवालों का जवाब दे दे की अध्यादेशों से किसानों को एक भी फायदा होता हो लेकिन सरकार किसानों को दो फाड़ करके राजनीति करना चाहती है और उन्होंने अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अगर 1 तारीख तक सरकार अध्यादेश वापस नहीं लेती है तो 2 तारीख को महम चौबीसी के चबूतरे पर भूख हड़ताल पर बैठूंगा और सरकार को घुटने टेकने पर मजबूर कर दूंगा आज भी जिले भर से सभी किसान संगठन सामाजिक संगठन और व्यापार मंडल की तरफ से किसानों के धरने पर पहुंचकर अपना समर्थन दिया और भविष्य में कंधे से कंधा मिलाकर साथ देने का आश्वासन दिया व्यापार मंडल की तरफ से राम कुमार की रिटोलियां ने कहा कि इस आंदोलन में हम व्यापार मंडल की तरफ से भरोसा दिलाते हैं कि इस आंदोलन के दूसरे चरण में मंडी की तरफ से ज्यादा से ज्यादा संख्या में भागीदारी लेकर आंदोलन को मजबूत करने का काम करेंगे।इनेलो पार्टी की तरफ से जिला प्रधान विजय पंचगामा, युवा नेता नितिन जांघू ने भी पार्टी की तरफ से भरोसा दिलाया कि किसानों के साथ जबरदस्ती किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी,कांग्रेस पार्टी की तरफ से बलजीत फोगाट हल्का अध्यक्ष  ने कहा कि पार्टी आपका कंधे से कंधा मिलाकर साथ देगी।आम आदमी पार्टी की तरफ से कैप्टन ने अपने संबोधन में कहा कि हम किसानों के ऊपर थोपे  गए अध्यादेशों का पुरजोर विरोध करते हैं, भाकियू यूवा जिला अध्यक्ष सीटू मेहडा ने कहा कि अब किसान अपने हित और अहित को भली भांति जान चुका है और हम सरकार को सबक सिखाने का काम करेंगे, हरियाणा व्यापार मंडल जिला अध्यक्ष बलराम गुप्ता, पूर्व चेयरमैन प्रीतम सांगवान,सुरेश खेड़ी बुरा, दिनेश खेड़ी बुरा,पूर्व सरपंच संजय चिड़िया,अशोक रानीला,पूर्व सरपंच राज सिंह,धरना प्रधान रणधीर माणकावास,युवा नेता इंदरजीत सांगवान कोल्हावास, रणधीर सिंह घिकाडा,मास्टर कृष्ण कुमार फोगाट, प्रोफेसर राजेंद्र डोहकी,युवा मीडिया प्रभारी रविंद्र कुमार, लकी शर्मा, किसान संघर्ष समिति संयोजक मीर सिंह जेवली, युवा जिला उपाध्यक्ष सुनील घसौला,संजय घसोला इत्यादि काफी संख्या में किसान मौजूद रहे।