ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
कमिश्नर की अध्यक्षता में संभाग स्तरीय सतर्कता सलाहकार एवं अनुश्रवण समिति की बैठक आयोजित
August 26, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

होशंगाबाद- , आज 26,अगस्त, 2020/ कमिश्नर नर्मदापुरम्  रजनीश श्रीवास्तव ने कहा कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के प्रकरणो में पुलिस विभाग एवं जिला अभियोजन अधिकारियों के मध्य समन्वय हेतु नोडल अधिकारी बनाए जाये ताकि प्रकरणो का तत्परता से निराकरण की कार्यवाही हो सके। उन्होंने अत्याचार निवारण अधिनियम अंतर्गत लंबित प्रकरणों के शीघ्र निराकरण सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिये। कमिश्नर श्री श्रीवास्तव की अध्यक्षता में 26 अगस्त को कमिश्नर कार्यालय के सभाकक्ष में अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम अंतर्गत गठित संभाग स्तरीय सतर्कता सलाहकार एवं अनुश्रवण समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में पुलिस उप महानिरीक्षक  दीपक वर्मा, कलेक्टर धनंजय सिंह, कलेक्टर बैतूल राकेश सिंह, कलेक्टर हरदा  संजय गुप्ता, पुलिस अधीक्षक  संतोष सिंह गौर, पुलिस अधीक्षक हरदा मनीष अग्रवाल , पुलिस अधीक्षक बैतूल सुश्री सिमाला प्रसाद सहित तीनो जिले के जिला अभियोजन अधिकारी उपस्थित रहे। बैठक में उपायुक्त जनजातीय कार्य विभाग जे पी यादव द्वारा अत्याचार निवारण अधिनियम अंतर्गत प्रकरणो के संबंध में विभिन्न बिन्दुओ पर प्रस्तुतिकरण किया गया जिनपर बैठक में चर्चा की गई। कमिश्नर श्री श्रीवास्तव ने कहा कि अत्याचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत दर्ज प्रकरणो में अधिनियम के प्रावधानो के तहत पीड़ितो को समय पर राहत राशि दी जाए। उन्होंने संभाग के तीनो जिले में राहत राशि के प्रकरणो में स्वीकृति एवं वितरण की कार्यवाही शीघ्र किये जाने के निर्देश दिये। कमिश्नर ने कहा कि जिन प्रकरणो में जाति प्रमाण पत्र के अभाव में राहत राशि का वितरण लंबित है, ऐसे प्रकरणो में आवश्यक दस्तावेजो की पूर्ति कर समयसीमा में जाति प्रमाणपत्र जारी करे। कमिश्नर ने संभाग के जिलो में अत्याचार अधिनियम के प्रकरणो में अनुविभागीय स्तर पर समीक्षा करके जाति प्रमाण पत्र जारी करने के निर्देश दिये। उन्होंने संभाग के तीनो जिले के राहत राशि के लंबित प्रकरणो की समीक्षा कर निर्देशित किया कि राहत राशि के प्रकरणो में संबंधित व्यक्तियो से संपर्क कर प्रकरणो का शीघ्र निराकरण करे। कमिश्नर ने तीनो जिले में जिला/उपखंड स्तरीय सतर्कता एवं मानीटरिंग समिति की बैठक तय समयानुसार आयोजित किये जाने के निर्देश दिये। कमिश्नर श्री श्रीवास्तव ने कहा कि आगामी समय में  धार्मिक त्यौहारो/पर्वो पर कोरोना संक्रमण से सुरक्षा हेतु शासन की गाइड लाईन का गंभीरता से पालन कराया जाना सुनिश्चित करे। बैठक में अत्याचार निवारण अधिनियम अंतर्गत जनवरी 2020 से जुलाई 2020 तक पुलिस विभाग में दर्ज प्रकरणो, राहत पुर्नवास एवं अन्य सुविधाओं, अधिनियम अंतर्गत न्यायालयों में प्रचलित प्रकरणो की स्थिति की एवं अन्य प्रकरणो की समिति द्वारा समीक्षा की गई। प्रदीप गुप्ता की रिपोर्ट