ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
जिलाधिकारी ने महात्मा गांधी व लाल बहादुर शास्त्री जी की जयन्ती पर श्रद्धासुमन अर्पित किये,
October 2, 2020 • Aankhen crime par • उत्तरप्रदेश

जिलाधिकारी ने महात्मा गांधी व लाल बहादुर शास्त्री जी की जयन्ती पर श्रद्धासुमन अर्पित किये,
देश और समाज को बदलने के लिये व्यक्ति को स्वयं को भी बदलना होगा-जिलाधिकारी,
ईमानदारी, कर्तव्य निष्ठा के साथ कार्य करें और जन मानस के अन्तिम व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुॅचाये-जिलाधिकारी
कलेक्ट्रेट परिसर में महात्मा गांधी की जयन्ती के अवसर महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री जी के चित्र पर जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, मुख्य राजस्व अधिकारी इन्द्र भूषण वर्मा एवं अधिवक्तागण तथा अन्य सम्भ्रान्त लोगों ने माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की। महात्मा गांधी की जयन्ती के अवसर पर कलेक्ट्रेट के जनसुनवाई कक्ष में जिलाधिकारी ने अपने उद्बोधन में कहा कि देश और समाज को बदलने के लिये व्यक्ति को स्वयं को भी बदलना होगा। महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री जी के जन्म दिवस पर सब लोगों को इस बात की शपथ लेनी होगी कि वे स्वच्छता को अपनायेगें और हर वर्ष 100 घंटे यानि हर सप्ताह 2 घंटे श्रमदान करके स्वच्छता के इस संकल्प को चरितार्थ करेगें और अपने घर व आस-पास गन्दगी नही होने देगें। दुनिया के जो भी देश स्वच्छ दिखते है उसका प्रमुख कारण यह है कि वहां के नागरिक न गन्दगी करते है न होने देते है, इस विचार के साथ सभी लोगों को गांव-गांव, गली-गली में स्वच्छ भारत मिशन के लिये लोगों को जागरूक करेगें। स्वच्छता के प्रति हमारा बढ़ाया गया एक कदम पूरे भारत देश को स्वच्छ बनाने में मदद करेगा। 
उन्होने कहा कि महात्मा गांधी जी जो कहते थे वही करते थे इसलिये जनता उनसे जुड़ जाती थी जिससे वे जन आन्दोलन चला सके। महात्मा गांधी जी भेदभाव की परम्परा को नष्ट करने के लिये आजीवन संघर्ष करते रहे। उन्होने कहा कि हम चाहे जिस पद पर हो उस पर ईमानदारी, कर्तव्य निष्ठा के साथ कार्य करें और जन मानस के अन्तिम व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुॅचाये। जिलाधिकारी ने कहा कि सत्याग्रह तथा सविनय अवज्ञा आन्दोलन के माध्यम से उन्होने समाज के सभी वर्गो में आजादी की लव प्रचलित कीं। उन्होने कहा कि गांधी जी ने सत्य और अहिंसा का जो मार्ग दिखाया व देश में ही नही विश्व प्रसिद्ध है और इससे हमारे देश का गौरव आगे बढ़ रहा है। उन्होने कहा कि हमें दूसरों की पीड़ा समझने की एवं उसे दूर करने की जरूरत है। शास्त्री जी जय जवान-जय किसान का नारा देकर भारत को ऊर्जावान बनाने एवं किसानों को सामान्य आत्म निर्भर बनाने पर जोर दिया। आज देश खाद्यान्न में आत्म निर्भर है, तेजी से सभी क्षेत्रांं में विकसित हो रहा है लेकिन फिर भी हम अभी जीवन की गुणवत्ता के कई मामलों में पीछे है अतः इसे हम लोग दूर करने का संकल्प लें। जिलाधिकारी ने जनसुनवाई कक्ष में उपस्थित लोगों को स्वच्छता की शपथ भी दिलायी।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, मुख्य राजस्व अधिकारी इन्द्र भूषण वर्मा सहित अन्य सम्भ्रान्त लोगों में चिन्तामणि पाण्डेय, विश्वनाथ त्रिपाठी, पंकज श्रीवास्तव आदि ने महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री जी के जीवन पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर जीजीआईसी की छात्राओं द्वारा ‘‘रामधुन’’ की मनमोहक प्रस्तुति की गयी।