ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
जिलाधिकारी ने कर-करेत्तर एवं राजस्व वसूली की समीक्षा की,
October 8, 2020 • Aankhen crime par • उत्तरप्रदेश

जिलाधिकारी ने कर-करेत्तर एवं राजस्व वसूली की समीक्षा की,
राजस्व वसूली में शिथिलता बरतने पर होगी कार्यवाही-जिलाधिकारी

 जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार की अध्यक्षता में कल सायंकाल कैम्प कार्यालय के सभागार में कर-करेत्तर एवं राजस्व वसूली की समीक्षा की गयी। बैठक में आबकारी व परिवहन विभाग की राजस्व वसूली लक्ष्य के सापेक्ष खराब पायी गयी जिस पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुये कहा कि राजस्व वसूली में सुधार लाया जाये। बैठक में विद्युत देय, स्टाम्प, खनन, वन, मण्डी शुल्क, सिंचाई आदि विभागों की समीक्षा की गयी। स्टाम्प एवं विद्युत देय की वसूली सन्तोषजनक पायी गयी, शेष विभागो ंकी वसूली सन्तोषजनक नही पायी गयी जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि शासन के निर्देश के क्रम में देयकों की वसूली अभियान चलाकर की जाये। नगर पालिका परिषद एवं नगर पंचायतों के राजस्व वसूली की समीक्षा के दौरान अधिशासी अधिकारी पट्टी, अन्तू, कुण्डा की अपेक्षित प्रगति ठीक न होने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी जतायी और निर्देशित करते हुये कहा कि शत् प्रतिशत वसूली सुनिश्चित की जाये। इसी प्रकार प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना की निकायवार समीक्षा की और अधिशासी अधिकारी रानीगंज के कार्यो की सराहना की और शेष अधिकारियों को निर्देशित किया कि व्यापक प्रचार प्रसार कराते हुये पात्र लाभार्थियों को योजना से लाभान्वित किया जाये। जिलाधिकारी ने चकबन्दी विभाग की समीक्षा करते हुये निर्देशित किया कि धारा-22, धारा-52, धारा-23, धारा-27 के लम्बित वादों का निस्तारण किया जाये। एस0ओ0सी0 को निर्देशित किया कि शासन द्वारा निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत कार्यवाही पूर्ण की जाये, इस वर्ष लम्बित सभी प्रकरण को अभियान चलाकर निस्तारण सुनिश्चित किया जाये। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि राजस्व वसूली में शिथिलता बरतने पर सम्बन्धित अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी, इसलिये राजस्व वसूली के लक्ष्य की शत् प्रतिशत पूर्ति की जाये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अश्विनी कुमार पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, मुख्य राजस्व अधिकारी इन्द्रभूषण वर्मा, समस्त उपजिलाधिकारी, समस्त अधिशसी अधिकारी एवं अन्य सम्बन्धित विभागांं के अधिकारी उपस्थित रहे।