ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
जिलाधिकारी ने इन्टीग्रेटेड कोविड कमाण्ड सेन्टर, जिला महिला चिकित्सालय, जिला पूर्ति कार्यालय एवं बाल विकास परियोजना सदर कार्यालय का किया निरीक्षण,
September 2, 2020 • Aankhen crime par • उत्तरप्रदेश

जिलाधिकारी ने इन्टीग्रेटेड कोविड कमाण्ड सेन्टर, जिला महिला चिकित्सालय, जिला पूर्ति कार्यालय एवं बाल विकास परियोजना सदर कार्यालय का किया निरीक्षण,

जिला पूर्ति कार्यालय में जिला पूर्ति अधिकारी सहित अन्य कर्मचारियों के अनुपस्थित रहने पर जिलाधिकारी ने एक दिन के वेतन पर लगायी रोक

  शासन के निर्देशानुसार जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार ने आज इन्टीग्रेटेड कोविड कमाण्ड सेन्टर, जिला महिला चिकित्सालय में स्थापित एल-2 कोविड केयर सेन्टर, जिला पूर्ति कार्यालय एवं बाल विकास परियोजना सदर कार्यालय का निरीक्षण किया। इन्टीग्रेटेड कोविड कमाण्ड सेन्टर के निरीक्षण में जिलाधिकारी ने होम आईसोलेशन एवं एल-1 अटैच्ड फैसिलिटी सेन्ट एन्थोनी इण्टर कालेज में भर्ती मरीजों से किये जा रहे वार्ता रजिस्टर का अवलोकन किया, अवलोकन में पाया गया कि आज 45 होम आईसोलेशन मरीजों से वार्ता कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली गयी है। उन्होने कहा कि जो रजिस्टर में जो भी त्रुटियॉ है उसे सुधारा जाये। उन्होने कहा कि मरीजों से प्रतिदिन क्रमवार बात की जाये जिससे सभी मरीजों से स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी प्राप्त हो सके, प्रतिदिन बार-बार एक ही मरीज से बात न की जाये। जिलाधिकारी ने कोविड कमाण्ड सेन्टर में ड्यूटी पर तैनात अधिकारी/कर्मचारी को निर्देशित किया कि कन्ट्रोल सेन्टर पर फोन काल अटेन्ड करते समय व्यक्तियों द्वारा कोविड-19 के सम्बन्ध में जानकारी, ईलाज, स्वास्थ्य सम्बन्धी महत्वपूर्ण बाते एवं अन्य पूछे गये प्रश्नों का सन्तोषजनक उत्तर दें और रजिस्टर में पूछे गये प्रश्नों का उल्लेख करें और उस पर क्या कार्यवाही की गयी उसका रजिस्टर में अंकन भी करें। जिलाधिकारी ने जिला महिला अस्पताल में स्थापित एल-2 कोविड केयर सेन्टर में रखे बेड, कोरोना से सम्बन्धित समस्त उपकरण व अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया एवं निर्देशित किया कि जो भी कमियॉ हो उसे तत्काल दुरूस्त कर लिया जाये। उन्होने आई0सी0यू0 वार्ड में लगायी गयी वेन्टीलेटर मशीन को देखा और निर्देशित किया कि यदि किसी भी मरीज को सांस लेने में किसी भी प्रकार की दिक्कत हो तो उसे यहीं पर भर्ती किया जाये। 
  जिला पूर्ति कार्यालय के निरीक्षण के दौरान जिला पूर्ति अधिकारी सहित अन्य कर्मचारियों में रूचि सिंह, जय प्रकाश तिवारी, विवेक सिंह, अंकित बाजपेई, देवी प्रसाद तिवारी मौके पर अनुपस्थित पाये गये जिस पर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारी एवं कर्मचारियों के एक दिन के वेतन पर रोक लगाने के निर्देश दिये और कहा कि सभी कर्मचारी समय से अपने कार्यालय में पहुॅचे, ऐसी लापरवाही दुबारा न की जाये। जिला पूर्ति कार्यालय में फाइलों का रख-रखाव ठीक नही पाया गया और फाइलों पर गन्दगी पायी जिस पर जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि फाइलों का रख-रखाव ठीक ढंग से किया जाये जिससे फाइलों पर गन्दगी न होने पाये। इसी प्रकार जिलाधिकारी ने बाल विकास परियोजना कार्यालय सदर का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होने उपस्थिति पंजिका को देखा। मौके पर उपस्थित सुपरवाइजर को निर्देशित किया कि जो भी फाइले इधर-उधर पड़ी है उसे सही ढंग से रखा जाये और कार्यालय में सभी कर्मचारी समय से उपस्थित रहे। जिलाधिकारी ने बाल विकास परियोजना अधिकारी के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की तो सुपरवाइजर द्वारा बताया गया कि वह जन सेवा केन्द्र गयी है। निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अश्विनी कुमार पाण्डेय भी उपस्थित रहे।