ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
जिलाधिकारी ने एल-2 हॉस्पिटल का किया निरीक्षण, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ की बैठक।
September 9, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

जिलाधिकारी ने एल-2 हॉस्पिटल का किया निरीक्षण, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ की बैठक।

प्रतापगढ़ 09 सितंबर 2020,* जिलाधिकारी  डॉ0 रूपेश कुमार  ने आज जिला महिला एल-2 अस्पताल का निरीक्षण कर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। बैठक में जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि 60 वर्ष से ऊपर जो भी कोविड  से संबंधित  मरीज पाए जा रहे हैं एम्बुलेंस भेजकर L1 अस्पताल में भेजकर भर्ती मरीजों की जांच करायी जाए कि वह अन्य बीमारी से ग्रसित तो नहीं है । मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि टीम के सदस्य को सेनीटाइज किया जाए, फील्ड में जाते समय  कोविड से संबंधित बचाव हेतु  उपकरण उपलब्ध कराया  जाए है और उन्होंने यह भी कहा कि कोविड संबंधित नियंत्रण हेतु होम आइसोलेसेन में रह रहे मरीज से बातचीत करके रजिस्टर का अवलोकन भी किया जाए। जिलाधिकारी ने रजिस्टर में दर्ज गंभीर एवं 60 वर्ष के ऊपर मरीजों को अस्पताल में भर्ती ना किये जाने की नाराजगी व्यक्त की और यह सचेत किया कि भविष्य में ऐसी पुनरावृति ना की जाए साथ ही साथ यह भी निर्देशित किया कि एक्टिव केस हिस्ट्री के आधार पर आकलन कर लिया जाए और और आवश्यकतानुसार एल-1/   एल-2 हॉस्पिटल में शिफ्ट कर लिया जाए। एल-1 अस्पताल में डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा पीपीई किट न पहनने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त की प्रभारी एल-1 अस्पताल के सी पी शर्मा को निर्देशित किया कि पीपीई किट या अन्य उपकरण का इस्तेमाल रोगियों के कक्ष में किया जाए अगर ऐसी लापरवाही पाई जाएगी तो संबंधित के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। आरआरटी टीम द्वारा होम आइसोलेट मरीजों की सतत् निगरानी रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एल-1/एल-2 हॉस्पिटल में भर्ती मरीजों के खाने पीने की गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए, मरीजों को किसी भी प्रकार की असुविधा ना हो, समय-समय पर डॉक्टरों द्वारा  उनके स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली जाए। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिया कि कोविड से संबंधित जो भी शिकायतें प्राप्त हो रही हैं उनका प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण सुनिश्चित किया जाए।  जिलाधिकारी ने कोविड पाजिटिव व्यक्तियों से फीडबैक लेने के निर्देश भी दिए।  इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी अशिवनी कुमार पांडेय, मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे