ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
जिला कार्यालय प्रभारी ने दिया दायित्व से स्तीफा,
August 23, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

होशंगाबाद-  अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दू परिषद मध्य भारत प्रांत में विगत एक वर्ष से प्रांत सचिव मूलचंद साध द्वारा संगठन के समर्पित निष्ठावान कार्यकर्ताओं के साथ मनमानी पूर्ण तानाशाही रवैया अपनाकर उन्हें अत्यधिक प्रताड़ित किया जा रहा है। जिसकी मेरे द्वारा वरिष्ठ पदाधिकारियों को समय समय पर इस घटना से अवगत कराया भी जा चुका है। परंतु आपके द्वारा हमेशा हम कार्यकर्ताओं को उचित कार्यवाही करने का आश्वासन ही दिया गया परन्तु आज दिनांक तक मूल चंद साध द्वारा की जा रहे कुकृत्यों पर कोई कार्यवाही नहीं की जा सकी इसी के परिणाम स्वरूप उसके हौसले इतने बुलंद हो गए अब जिला नर्मदापुर में दायित्व वान कार्यकर्ताओं ओर सामान्य लोगों से अनावश्यक रूप से धर्म रक्षा निधि एवं कार्यक्रमों, बैठकों के नाम से धनराशि की मांग की जाती है ओर राशि प्राप्त करने के बाद ऐसी कोई बैठक, कार्यक्रम इत्यादि नहीं किए जाते जिस नाम से राशि ली जाती है।
इस सम्बन्ध में जब जनसामान्य ओर कार्यकर्ता हमसे सवाल करते हैं।
हम प्रवीण भाई तोगड़िया के सानिध्य में हिन्दू धर्म संस्कृति रक्षार्थ कोई कार्य ही नहीं कर सकता तो ऐसी स्थिति में संगठन के किसी भी दायित्व पर रहने का कोई कारण मुझे समझ नहीं आ रहा इसलिए मैं दायित्व से स्वयं को मुक्त करता हूँ। कोरोना काल को देखते हुए मेने आज सोशलमीडिया पर अपना स्तीफा जारी किया है। बहुत जल्द ही में अपना इस्तीफ पत्र मुख्य कार्यालय दिल्ली पहुँचाऊँगा, क्योंकि हमारी श्रद्धा सदैव ही प्रवीण तोगड़िया के प्रति एक निष्ठ रही है जब इस संगठन की नीव भी नहीं रखी तब भी हम प्रवीण तोगड़िया के साथ थे लेकिन मूलचंद साध के छल कपट ओर षड्यंत्र पूर्वक किए जाने वाले व्यवहार से हम अत्यधिक आहत है। जिसका कोई उपचार किया जाना अब हमें संभव नहीं लगता अतएव हमने विश्व हिन्दू परिषद में भी अपने आत्म सम्मान की रक्षा की थी ओर अब इस मूलचंद द्वारा मनमानी पूर्ण तरीके से चलाए जा रहे अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दू परिषद में भी हम अपने आत्म सम्मान की रक्षा करेंगे क्योंकि हम लोगों के लिए आत्म सम्मान और स्वाभिमान से बढ़कर शेष कुछ नहीं ओर न कभी हम लोगों ने स्वार्थ देखकर समाज सेवा की है, और न हमें छल कपट,स्वार्थ पूर्ण कार्य करने की आदत है। अत: अंतर्राष्ट्रीय हिंदू परिषद् से मैं स्वयं को मुक्त करता हूँ। प्रदीप गुप्ता की रिपोर्ट