ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
जनपदीय पेयजल एवं स्वच्छता समिति की जिलाधिकारी ने की समीक्षा
September 10, 2020 • Aankhen crime par • उत्तरप्रदेश

जनपदीय पेयजल एवं स्वच्छता समिति की जिलाधिकारी ने की समीक्षा

  जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार की अध्यक्षता में कल सायंकाल कैम्प कार्यालय में जनपदीय पेयजल एवं स्वच्छता समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में अधिशासी अभियन्ता जल निगम ने बताया है कि जल जीवन मिशन के अन्तर्गत जनपद में अब तक 150 प्रोजेक्ट स्वीकृत हुये है जिनमें से 92 पुराने प्रोजेक्ट में से 46 के टेण्डर हो गये है तथा 58 नई योजनाओं में से 11 की टेण्डर प्रक्रिया प्रारम्भ की गयी है। उन्होने बताया है कि हर गांव के हर घर को मार्च 2022 तक टेप (नल) कनेक्शन से जोड़ने का लक्ष्य उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा निर्धारित किया गया है, इसके लिये सभी गांवों की कार्य योजना और डीपीआर तैयार कराया जा रहा है। एक साल की अवधि में यह कार्य किया जाना है। जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि विलेज एक्शन प्लान में उस ग्राम पंचायत में उपलब्ध पेयजल की क्या सुविधा है तथा पेयजल की मांग कितनी है इसका भी विवरण तैयार कराया जाये। डीपीआर बनाते समय ग्रे वाटर मैनेजमेन्ट का भी ध्यान रखा जाये तथा वाटर रिचार्जिंग की भी व्यवस्था सुनिश्चित की जाये ताकि भूमिगत जल को दोहन के साथ ही भूमिगत जल का स्तर भी बनाये रखा जा सके। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि डीपीआर बनाते समय इसका व्यापक प्रचार प्रसार कराया जाये, सभी ब्लाकों में होर्डिंग के माध्यम से प्रचार प्रसार किया जाये ताकि जनसामान्य भी इसके प्रति जागरूक हो सके। विलेज एक्शन प्लान से सम्बन्धित ग्राम पंचायत के ग्राम पंचायत अधिकारी, ग्राम प्रधान तथा पेयजल एवं स्वच्छता समिति एवं अन्य के सुझाव भी शामिल किये जाये ताकि जनसहभागिता से डीपीआर तैयार हो सके। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अश्विनी कुमार पाण्डेय सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।