ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
जमीन संबंधी फर्जीवाड़े मे बलरामपुर पुलिस की दूसरी सफलता ।
October 8, 2020 • Aankhen crime par • छतीसगढ़,उड़ीसा

जमीन संबंधी फर्जीवाड़े मे बलरामपुर पुलिस की दूसरी सफलता ।
यह मामला चौकी विजयनगर, थाना रामानुजगंज क्षेत्र के ग्राम महावीरगंज के करीब 1300 एकड़ भूमि को शासकीय कर्मचारी से  मिली – भगत कर क्षेत्र के 09 लोगो द्वारा  अपने नाम करा लिया गया था । प्रार्थी विवेक चंद्रा तहसीलदार रामानुजगंज, जिला बलरामपुर के लिखित रिपोर्ट पर विजयनगर चौकी मे धारा 420,467,468,471,120बी IPC के तहत  अपराध दर्ज कर विवेचना मे लिया गया। मामले की गंभीरता के  मद्देनजर पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज रतन लाल डांगी, कलेक्टर बलरामपुर श्याम धावड़े के मार्गदर्शन मे विवेचना प्रारम्भ की गई, विवेचना के दौरान पाया गया की मोइनूद्दीन आ0 रहीम, जान मोहम्मद आ0 कलाम मियां, खेलवान आ0 वोवा, मँगरी पत्नी मो0 अली, रसूलन पत्नी मो0 हुसैन, गुलाम नबी आ0 जसमुदिन, यार मोहहमद आ0 कादिर, सागर आ0 ढूंपा एवं इशक आ0 नान्हु मियां सभी निवासी महावीरगंज तहसील रामानुजगंज के द्वारा ग्राम महावीरगंज मे स्थित भूमि का पट्टा नहीं होते हुए भी फर्जी तरीके से संबंधितों के द्वारा मनोहर प्रताप सिंह भृत्य से साठ गांठ कर पुनरीक्षण प्रकरण तैयार  कर शासकीय मद की भूमि  को अपने नाम दर्ज करा लिया गया था। अधिकारियों  के द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट मे पुनरीक्षण प्रकरण फर्जी पाया गया है तथा निष्कर्ष मे सभी 09 पक्षकार एवं मनोहर प्रताप सिंह एवं उमाशंकर पाण्डेय को दस्तावेज़ मे कूटरचना /अभिलेखो से छेड़छाड़ तथा छल कर ग्राम की भूमि अधिग्रहण के कृत्य मे दोषी पाया गया है।
अनमोल एक्का की रिपोर्टिंग