ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
इक्कीस गांव के 1200 एकड़ वन भूमि का 227  फर्जी पट्टे बांटकर तकरीबन 13 लाख की अवैध  वसूली करने वाले 3 आरोपी गिरफ्तार जांच जारी 
September 10, 2020 • Aankhen crime par • छतीसगढ़

इक्कीस गांव के 1200 एकड़ वन भूमि का 227  फर्जी पट्टे बांटकर तकरीबन 13 लाख की अवैध  वसूली करने वाले 3 आरोपी गिरफ्तार जांच जारी 

 


 वाड्रफनगर बलरामपुर 

क्षेत्र में फर्जी वन अधिकार पट्टा वितरण की सूचना पर तहसीलदार वाड्रफनगर रामराज सिंह के द्वारा 7 अगस्त को पुलिस चौकी वाड्रफनगर में लिखित आवेदन के आधार पर अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया प्रकरण की गंभीरता के मद्देनजर पुलिस महा निरीक्षक सरगुजा रतनलाल डांगी, कलेक्टर बलरामपुर श्याम धावड़े, पुलिस अधीक्षक बलरामपुर रामकृष्ण साहू के दिशा निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रशांत कतलम एवं पुलिस अनुविभागीय अधिकारी वाड्रफनगर ध्रुवेश जयसवाल के मार्गदर्शन में विवेचना प्रारंभ की गई पतासाजी एवं विवेचना के आधार पर पाया गया कि बरतीकला चौकी वाड्रफनगर का निवासी बैजनाथ पांडे पिता स्वर्गीय राम प्रसाद पांडे जो वन मंडल कार्यालय सूरजपुर में भृत के पद पर कार्यरत हैं वह अपने सहयोगी रामवृक्ष आयाम पिता स्वर्गीय रघुवर आया जाति गोंड उम्र 55 वर्ष चौकी निवासी ग्राम गुरुमुटी चौकी वाड्रफनगर पंचम पटेल निवासी ग्राम सोनडीहा चौकी रेवटी थाना चंदौरा जिला सूरजपुर के साथ मिलकर अपराधिक षड्यंत्र रच कर कंप्यूटर से कूट रचित पट्टा बना कर एवं उसमें सील लगाकर जाली हस्ताक्षर कर लोगों से व्यापक पैमाने में पैसा लेकर उन लोगों को पट्टा वितरण किये हैं। विवेचना के दरमियान क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों के किसानों व आरोपी से अब तक 227 पट्टे की जब्ती की जा चुकी है प्रकरण के आरोपी के कब्जे से पट्टा बनाने में प्रयुक्त सील, हरा व काला पेंन, फर्जी पट्टा, कंप्यूटर, प्रिंटर स्कैनर जप्त की गई है जिन ग्रामीणों के द्वारा फर्जी वन अधिकार पट्टा जप्त कराया गया है वे सभी ग्रामीण अपने स्वार्थ के लिए पैसा देकर शासकीय वन भूमि का फर्जी तरीके से लाभ प्राप्त करने के उद्देश्य से वन अधिकार पट्टा अर्जित किया है ग्रामीणों के खिलाफ भी विवेचना पर विधि सम्मत कार्यवाही प्रस्तावित है कुछ वन अधिकार  पट्टों में राजस्व अमला के द्वारा ऋण पुस्तिका भी जारी किया गया है जो विवेचना के दौरान तथ्यात्मक जानकारी सही पाए जाने पर उनके विरुद्ध भी कार्यवाही किए जाने से इनकार  नहीं किया सकता । लगभग 1200 एकड़ शासकीय वन भूमि के 227 नग फर्जी पट्टे बनाकर लोगों को वितरण कर भारी मात्रा में रकम उगाही की गई है जिसमें चौकी बलंगी के भरूहीबांस में 5 नग, थाना रघुनाथनगर के ग्राम हरिगवा में 05, बगईनार 05, लंगडी 03, सरना 03 शंकरपुर 03, जनकपुर 04 , बेतो 28, गिरवानी 40, बभनी 05, जौराही 02, केसारी 05, थाना बसंतपुर के ग्राम करमडिहा ब में 05, सरुअत में 01, चौकी वाड्रफनगर के ग्राम गुरमूटी में 46, लोधी में 06, रामनगर में 03 , रजखेता 08, बरती कला05, थाना चलगली के ग्राम ओदारी में 08, थाना त्रिकुंडा के ग्राम गोवर्धनपुर में 15 नग फर्जी पट्टा बनाकर बांटा गया हैअब तक जानकारी के अनुसार क्षेत्र के 21 गांव में कुल 227 लोगों को फर्जी पट्टा बनाकर लगभग 13 लाख रुपए की वसूली करने की बात बताई जा रही है प्रकरण में अन्य सहयोगियों की पता तलाश विवेचना जारी है फर्जी वन अधिकार पट्टा के गिरोह का भंडाफोड़ व जप्ती गिरफ्तारी कारवाही मे थाना प्रभारी बसंतपुर राजकुमार लहरे, चौकी प्रभारी वाड्रफनगर कोमल भूषण पटेल, सहायक उपनिरीक्षक के.पी.सिंह, प्रधान आरक्षक अश्वनी सिंह, धनसिंह शांडिल्य, नंदलाल, नरेश मिंज,आरक्षक ओमप्रकाश कुर्रे ,अंकित जायसवाल, सुरेंद्र सिंह, अरविंद सिंह, भूपेंद्र मरावी , जुगेश जयसवाल, अरुण तिर्की, विवेक पांडे बृजभान शामिल थे ।

इस संबंध में एसडीओपी वाड्रफनगर ध्रुवेश जायसवाल ने कहा कि राजस्व अधिकारी की शिकायत पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के संज्ञान में यह खबर दी गई थी जिनके मार्गदर्शन में विवेचना दौरान फर्जी वन भूमि पट्टा मामले में तीन आरोपी सहित 227 फर्जी पट्टे एवं आरोपियों के द्वारा तैयार किए गए फर्जी पट्टा उपकरण को भी जप्त किया गया है साथ ही यह बात भी निकल कर सामने आई है कि उक्त पट्टा जारी करने में तकरीबन 13 लाख की अवैध वसूली इनके द्वारा की गई है वही जांच विवेचना अभी भी जारी है इसमें और भी लोगों की संलिप्तता सामने आ सकती है


बलरामपुर वाड्रफनगर से संदीप कुशवाहा की रिपोर्ट