ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
होशंगाबाद- होटल मालिकों से गठजोड की कीमत जनता क्यों चुकाये
August 1, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

होशंगाबाद- होटल मालिकों से गठजोड की कीमत जनता क्यों चुकाये -जीतू पटवारी, कोविड़ व कवारेंटाईन सेंटर की व्यवस्था में लापरवाही यह कहना है इटारसी के केलू उपाध्याय का, 01 अगस्त 2020, मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी मीडिया विभाग अध्यक्ष एवं विधायक जीतू पटवारी एवं मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रवक्ता राजकुमार केलू उपाध्याय ने बयान जारी कर प्रदेश सरकार की क्वेरेन्टीन नीति की आलोचना की है, जीतू पटवारी ने कहा कि भोपाल में सरकार होटल मालिकों से गठजोड़ कर आम जनता को लूट रही है भोपाल में कोई व्यक्ति यदि कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो उसके घर के एक सदस्य को छोड़ कर सभी लोगों को सरकारी केंद्र या प्राइवेट होटलों में जाने के लिए बाध्य किया जा रहा है। सभी को सरकारी केंद्रों की स्थिति मालूम है। इसलिए लोगों को प्राइवेट होटल में जाना पड़ रहा  है, जिसके लिए उनसे मोटी रकम भी वसूल की जा रही है। साथ ही घर से बाहर रहने के कारण उन पर मानसिक दवाब बढ़ रहा है होटल में कोरोना को लेकर कोई सतर्कता नहीं है जिससे संक्रमित होने की आशंका बढ़ जाती है। जीतू पटवारी ने पूछा  कि क्या मुख्यमंत्री और जनता के लिए नियम अलग अलग है? अगर ऐसा नहीं है तो मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह जी के परिवारजनों को होटल में शिफ्ट क्यों नहीं किया गया है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता राजकुमार केलू उपाध्याय ने कहा कि होशंगाबाद संभाग के कोविड सेंटर व क्वारेंटाईन सेंटर में रहने व भोजन व्यवस्था की स्थिति ठीक न होने से मरीज बेहद परेशानी झेल रहे है और प्रशासन लापरवाही पर ध्यान नहीं दे रहा है मीडिया भी निरंतर इन कमियों को उजागर कर रहे हैं जीतू पटवारी व केलू उपाध्याय ने यह भी आरोप लगाया कि कोरोना अस्पताल को भाजपा ने अपना ऑफिस बना लिया है। वहां से भाजपा  प्रदेश अध्यक्ष वी डी शर्मा, सुहास भगत और अन्य नेता कोरोना के सभी प्रोटोकॉल तोड़ते हुए वर्चुअल मीटिंग करने में लगे हैं अस्पताल द्वारा इसकी मूक सहमति सवाल खड़े करती है।मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी मीडिया विभाग अध्यक्ष जीतू पटवारी व प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता राजकुमार केलू उपाध्याय ने मांग करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार तुरंत इस तुगलकी फरमान को वापस ले और कोरोना पॉजिटिव के परिवारजनों को घर पर ही क्वेरेटाईन होने की अनुमति दे जिससे आर्थिक बोझ व मानसिक तनाव न पड़े।
प्रदीप गुप्ता की रिपोर्ट