ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
हरियाणा में परिवार पहचान पत्र बनवाने की नई गाइडलाइन जारी
September 8, 2020 • Aankhen crime par • हरियाणा

हरियाणा में परिवार पहचान पत्र बनवाने की नई गाइडलाइन जारी
प्रति सप्ताह 11-11 जिलों में बनेंगे पहचान पत्र, देखिये पूरी लिस्ट
चंडीगढ़, (जयबीर राणा थंबड़)। हरियाणा सरकार ने परिवार पहचान पत्र बनाने व इनके अपडेशन के कार्य में तेजी लाने के लिए सभी जिलों के लिए दिन निर्धारित करते हुए नयी गाइडलाइन जारी की है। इसके तहत प्रति सप्ताह 11-11 जिलों में पहचान पत्र बनवाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। एक सप्ताह 11 जिलों में तो अगले सप्ताह बाकी 11 जिलों में परिवार पहचान पत्र बनाने व अपडेट करने का कार्य करवाया जाएगा।
एक सरकारी प्रवक्ता ने इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश में नए परिवार पहचान पत्र बनवाने और जिन लोगों ने पहले आवेदन किए हैं, उनको अपडेट करने के लिए विशेष शिविर लगाए जा रहे हैं। इसके तहत 7 से 12 सितम्बर तथा 21 से 26 सितंबर के दौरान हिसार, गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल, जींद, पंचकूला, सिरसा, फतेहाबाद कैथल, भिवानी व चरखी दादरी में परिवार पहचान पत्र बनाने व अपडेशन का कार्य किया जाएगा।
इसी प्रकार, 14 से 19 सितम्बर तथा 28 सितम्बर से 3 अक्तूबर के दौरान रोहतक, झज्जर, सोनीपत, पानीपत, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल, नूंह, रेवाड़ी व महेंद्रगढ़ जिलों में परिवार पहचान पत्र बनाने व अपडेशन का कार्य किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि जिला में परिवार पहचान पत्र बनाने व इनके अपडेशन का कार्य राजकीय विद्यालयों व स्थानीय कमेटियों में बीएलओ के माध्यम से करवाया जा रहा है। राजकीय स्कूलों में सुबह 8 से सायं 5 बजे तक यह कार्य किया जा रहा है जबकि बीएलओ द्वारा सुबह 9 से सायं 5 बजे तक अपने-अपने बूथों पर रहकर परिवार पहचान पत्र बनाने का कार्य किया जा रहा है।
उन्होंने स्पष्ट किया कि यह कार्य पूरी तरह से नि:शुल्क किया जा रहा है और यदि कोई भी व्यक्ति इसके लिए पैसे मांगता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने आमजन से अपील की कि वे निर्धारित दिनों में अपने नजदीकी स्थान पर जाकर परिवार परिवार पहचान पत्र बनवाने का आवेदन दें और यदि पहले आवेदन दे चुके हैं तो इन्हें अपडेट करवाएं।
क्या है परिवार पहचान पत्र योजना ?
‘परिवार पहचान-पत्र’ पूरे परिवार को एक विशिष्ट पहचान प्रदान करेगा और इसमें शीर्ष पर परिवार के मुखिया का नाम होगा। परिवार के सदस्य का नाम उसके जन्म के तुरंत बाद परिवार पहचान-पत्र में जोड़ दिया जाएगा और लड़की की शादी के बाद उसका नाम उसके ससुराल के परिवार पहचान-पत्र में स्थानांतरित कर दिया जाएगा।
य़हां पर करवाएं रजिस्ट्रेशन :-
परिवार पहचान पत्र बनवाने के लिए सभी राशन डिपो, तहसील कार्यालयों, खंड विकास कार्यालय, गैस एजेंसी, सरकारी स्कूलों, अटल सेवा केंद्रों और सरल सेंटर में फार्म मुफ्त लिए जा सकते हैं। फार्म में अपनी और परिवार के सभी सदस्यों की जानकारी भरें और जरूरी कागज लगाकर जमा कर दें।
परिवार पहचान-पत्र बनाने के उद्देश्य :-
योजनाओं का लाभ लोगों को उनके दरवाजे पर प्रदान किया जाएगा।
प्रवासी परिवार जगह छोड़ने के बाद इस पोर्टल पर अपनी जानकारी अपलोड कर सकते हैं और उनकी पिछली जानकारी हटा दी जाएगी।
प्रत्येक योजना का लाभ प्रत्येक परिवार इकाई तक पहुंचे।
हरियाणा परिवार की पहचान करने और उसके उत्थान, मानचित्रण और लाभ प्रदान करने में पारदर्शिता सुनिश्चित करना।
अयोग्य व्यक्तियों और अयोग्य परिवारों को जाने वाली सरकारी योजनाओं के लाभों को रोकना और नकल की संभावना को भी हटाना।
आवेदन करने के लिए जरुरी दस्तावेज :-
आवेदक हरियाणा का स्थायी निवासी होना चाहिए ।
आधार कार्ड, परिवार के पहचान दस्तावेज़, मोबाइल नंबर, बैंक खाता संख्या।
शिविर में परिवार का कोई भी सदस्य आ सकता है। परिवार पहचान पत्र बनवाने अथवा सत्यापन के लिए संबंधित व्यक्ति को अपने साथ परिवार के सभी सदस्यों का आधार कार्ड, 21 वर्ष से अधिक आयु के सदस्यों की बैंक डिटेल व पास बुक, पैन कार्ड और वोटर आईडी कार्ड साथ लाना अनिवार्य है।
परिवार पहचान पत्र लाभार्थी सूची कैसे देखे ?
राज्य के इच्छुक लाभार्थी परिवार पहचान पत्र सूची में अपने परिवार का नाम देखना चाहते है तो उन्हें सामाजिक आर्थिक और जाति जनगणना (SECC -11 ) वमे अपनी स्थिति की जांच करनी होगी ।
यदि आपके परिवार का नाम सामाजिक आर्थिक और जाति जनगणना (SECC -11 ) है तो उन्हें इस योजना के तहत शामिल किया जायेगा। यदि आप अपने परिवार का नाम SECC-2011 सूची के तहत नहीं हॉट है तो आपको इस योजना का लाभ उठाने के लिए ऊपर दी गयी प्रक्रिया का पालन करना होगा।
इसके बाद, आप हरियाणा 14 डिजिट के परिवार पहचान पत्र का लाभ उठा सकते हो।