ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
गृहविज्ञान महाविद्यालय में एनएसएस-डे का आयोजन किया गया
September 25, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

होशंगाबाद -आज गृहविज्ञान महाविद्यालय में एनएसएस-डे का आयोजन किया गया, शासकीय गृहविज्ञान स्नातकोत्तर महाविद्यालय में गुरूवार को एनएसएस डे का कार्यक्रम शोसल डिस्टेंस का पालन करते हुए समपन्न किया। कार्यक्रम का शुभारंभ महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. श्रीमती कामिनी जैन के कर कमलों द्वारा मॉ सरस्वती एवं स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर किया गया। इस समय संगीत विभाग के प्रेमकान्त कटंगकार एवं रामसेवक शर्मा द्वारा सरस्वती वंदना प्रस्तुत की गयी। इसके पश्चात रासेयो की पूर्व नेशनल अवार्ड प्राप्त कु सौम्या चौहान द्वारा लक्ष्य गीत प्रस्तुत किया गया। डॉ. रागिनी दुबे पूर्व जिला समन्वयक द्वारा रासेयो के महत्व पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. जैन ने अपने उद्बोधन में कहा कि एनएसएस का उद्देश्य ही समाज सेवा के माध्यम से व्यक्तित्व विकास करना है विद्यार्थियों का श्रम के प्रति रूझान हो ऐसा प्रयास होना चाहिए एवं प्राचार्य ने 51 वें एनएसएस डे पर सभी को शुभकामनाए दी। इस अवसर पर स्वयंसेविकाओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गये। कु. पूनम मंसोरिया ने लावणी नृत्य किया कु. अंजली उईके एवं कामिनी गहलोद ने आदिवासी नृत्य की शानदार प्रस्तुति दी। कु. सुरभी अग्रवाल ने लोकगीत प्रस्तुत किया एवं अवसर पर स्वयंसेविकाओं ने बताया कि हमने कोविड-19 के दौर में विपरीत परिस्थिति में लोगों की सहायता की। इस अवसर पर एनएसएस प्रभारी डॉ. हर्षा चचाने ने मंच संचालन करते हुए बताया कि रासेयो विद्यार्थी जीवन की महत्वपूर्ण कड़ी है जिसकी वजह से मनुष्य की अलग पहचान बनती है। अंत में डॉ. ज्योति जुनगरे ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि प्रत्योक विद्यार्थी को एनएसएस से जुडना चाहिए और एनएसएस के उद्देश्यों को अपने जीवन में आत्मसात करते हुए आगे बढऩा चाहिए। कार्यक्रम में डॉ. पुष्पा दुबे, डॉ. भारती दुबे, डॉ. श्रुति गोखले, डॉ. आरबी शाह ,डॉ. संध्या राय, डॉ. संगीता अहिरवार, डॉ. अरूण सिकरवार, डॉ. श्रीकान्त दुबे, अजय तिवारी, डॉ. दशरथ मीना, डॉ. मनीषा तिवारी, श्रीमती किरण विश्वकर्मा, डॉ. कीर्ति दीक्षित, डॉ. रीना मालवीय, डॉ. नीतू पवांर, एसएस मर्सकोले, शिवानी चौबे एवं महाविद्यालयीन स्टॉफ उपस्थित रहा। 
प्रदीप गुप्ता की रिपोर्ट