ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
दिव्यांगों को शारीरिक व आर्थिक रूप से सक्षम बनाना भी सामाजिक उत्थान का ही एक कार्य -उपायुक्त शिवप्रसाद
September 15, 2020 • Aankhen crime par • हरियाणा

दिव्यांगों को शारीरिक व आर्थिक रूप से सक्षम बनाना भी सामाजिक उत्थान का ही एक कार्य -उपायुक्त शिवप्रसाद

चरखी दादरी (उमेश सतसाहेब) समाज सेवा के लिए हर नागरिक को अपना योगदान देना चाहिए। दिव्यांगों को शारीरिक व आर्थिक रूप से सक्षम बनाना भी सामाजिक उत्थान का ही एक कार्य है।
उपायुक्त शिवप्रसाद शर्मा ने आज राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विधालय परिसर में जिला रैडक्रास सोसायटी,एलिम्को कंपनी कानपुर एवं अरावली पावर कंपनी झाड़ली के सहयोग से आयोजित कृत्रिम अंग एवं सहायक वितरण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ये शब्द कहे। उन्होंने कहा कि हमारे समाज में दिव्यांग सशक्त होंगे तो देश भी सशक्त बनेगा। नेशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन के अरावली पावर प्लांट झाड़ली ने अपने सामाजिक दायित्व कार्यक्रम के अंतर्गत लगभग 80 लाख रूपए की लागत के सहायक उपकरण एलिम्को कंपनी कानपुर से तैयार करवाए हैं। इनका वितरण जिला में खंड स्तर पर किया जा रहा है। मंगलवार 15 सितंबर को बाढड़ा, 16 सितंबर को झोझूकलां व 17 सितंबर को बौंद में यह कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। करीब चार सौ दिव्यांगो को इन कैंपों में कृत्रिम अंग व ट्राइ साईकिलें बांटी जाएंगी।
उपायुक्त ने कहा कि मोटराइज्ड साईकिल से एक बार में बैटरी चार्ज हो जाने के बाद पचास किलोमीटर तक का सफर किया जा सकता है। इससे दिव्यांगों को आने-जाने में काफी मदद मिलेगी और वे अपने दैनिक कार्यों को आसानी से निपटा सकेंगे। इन साईकिलों के साथ दिव्यांगों को नि:शुल्क हैलमेट भी दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि दादरी जिला में दिव्यांगों के लिए इस प्रकार के आयोजन भविष्य में जारी रहेंगे।
कार्यक्रम में एलिम्को कंपनी के प्रबंधक प्रवीन कुमार ने कहा कि उत्तर भारत के अनेक जिलों में उनकी कंपनी दिव्यांगों के लिए बेहतर उपकरण तैयार कर उनके वितरण का काम कर रही है। उनका लक्ष्य है कि आने वाले दो साल में कंपनी तीन गुना उत्पादन बढाकर दिव्यांगों के लिए अच्छे तकनीकी उपकरण बनाएगी। जिससे उनका जीवन और सरल बन सके।
अरावली पावर कंपनी झाड़ली के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एमवीआर रेड्डी ने अपने संबोधन में कहा कि वर्ष 2018 में कंपनी ने झज्जर, रेवाड़ी व दादरी में कैंप लगाकर पांच हजार से अधिक विकलांगों को मोटराइज्ड व हाथ से चलाने वाली तिपहिया साईकिल एवं कृत्रिम अंग प्रदान किए थे। इस बार कोविड काल की वजह से यह कार्यक्रम थोड़ा देरी से हो रहा है। दिव्यांगों की सहायता के लिए कंपनी का सामाजिक सहभागिता का अभियान एक वरदान साबित हुआ है। समारोह को अरावली पावर कंपनी के उप महाप्रबंधक प्रभातराम व एलिम्को के एसके रथ ने भी संबोधित किया।
जिला रैडक्रास सोसायटी के सचिव श्यामसुंदर शर्मा ने कहा कि दादरी जिला में शत-प्रतिशत दिव्यांगों को सहायक उपकरण बांटे जाएंगे। इसका एक और चरण जल्द शुरू होगा। भविष्य में सभी जरूरतमंद दिव्यांगों को मोटराइज्ड ट्राई साईकिलें ही दी जाएंगी। समारोह में उपायुक्त ने दिव्यांगों को कृत्रिम अंग और ट्राई साईकिल भेंट कीं। इस अवसर पर उप पुलिस अधीक्षक रामसिंह बिश्रोई, जिला खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक राजेश्वर मुदगिल, लेखा अधिकारी प्रवीन यादव, सुरेश कुमार, अरावली कंपनी के प्रमुख अधिकारी सीके सामंथा, संजय भारद्वाज, डा. अनिता भारद्वाज, विकास जैन, सीआईएसएफ के डिप्टी कमांडेंट वाईएस शेखावत, जगन्ननाथ साहू, संजय सिंह, राकवमावि के प्राचार्य श्रीभगवान शर्मा, अनिता अरोड़ा, प्रवीन गर्ग, सुदेश वर्मा, हरियाणा विकलांग कल्याण संघ के प्रधान हंसराज कलियाणा, विजय कौशिक, संजय रामफल इत्यादि उपस्थित रहे। आज ये ट्राई साईकिल एवं सहायक उपकरण प्राप्त कर दिव्यांगों के  चेहरों पर मुस्कान दिखाई दे रही थी।