ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
दादरी जिला में कोविड मामलों की बढ़ती संख्या चिंता का विषय बन चुका है
September 20, 2020 • Aankhen crime par • हरियाणा,पंजाब

चरखी दादरी (उमेश सतसाहेब) । ऐसे हालात में प्रशासन कोविड नियमों की अवहेलना करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही अमल में ला सकता है। कोरोना से संक्रमित रोगी घर से बाहर निकलना बिल्कुल बंद कर दें व उनके परिवार के सदस्य भी बहुत आवश्यक कार्य होने पर ही एहतियात के साथ बाहर आएं।
उपायुक्त शिवप्रसाद शर्मा ने आज अपने कैंप कार्यालय में सीएमओ डा. सुदर्शन पंवार के साथ कोरोना मामलों की समीक्षा करते हुए ये शब्द कहे। उन्होंने कहा कि दादरी में अब तक कुल 524 मामले कोरोना पॉजिटिव के पाए जा चुके हैं। इनमें से 221 अभी सक्रिय हैं और 302 ठीक हो गए हैं। एक रोगी का निधन हो गया था। कोरोना संक्रमण अभी खत्म नहीं हुआ है और नागरिकों को इसे काफी गंभीरता से लेना होगा। कोरोना से बचाव के लिए सावधानी के सभी उपाय निरंतर जारी रखें, अन्यथा कभी भी कोई व्यक्ति कोरोना की चपेट में आ सकता है।
उपायुक्त ने कहा कि कुछ लोग कोरोना से संक्रमित होते हुए घरों से बाहर आ जाते हैं। यह स्थिति अत्यंत खतरनाक है। एक व्यक्ति 70 से 110 व्यक्तियों को संक्रमण के दायरे में ला सकता है। कोरोना मरीजों ने बाहर निकलना बंद नहीं किया तो मजबूरन उनको कोविड अस्पताल में दाखिल करना पड़ेगा। घर में एकांतवास की पालना की जानी जरूरी है। इस समय 37 मरीजों को कोविड अस्पताल में रखा गया है। शिवप्रसाद शर्मा ने कहा कि 21 सितंबर को स्कूलों को खोलने की शुरूआत हो रही है। हर स्कूल का प्राचार्य यह सुनिश्चित करेगा कि उसके यहां कोई विद्यार्थी, स्टाफ सदस्य कोरोना से संक्रमित ना हो। स्कूल में शारीरिक दूरी, मास्क, साबुन से हाथ धोना और सैनेटाइजर को इस्तेमाल होना चाहिए। उन्होंने कहा कि स्कूलों का आकस्मिक निरीक्षण भी किया जाएगा। बाजारों में दुकानदार दो या तीन व्यक्तियों को ही काऊंटर पर खड़ा होने दें। उपायुक्त ने कहा कि आम जन जागरूकता से इस बीमारी का सामना करें और लापरवाही ना बरतें। बाजारों में इसी तरह भीड़भाड़ रही एवं नागरिकों ने महामारी के प्रति उदासीनता दिखाई तो प्रशासन को मजबूरन सख्त रूख अख्तियार करना पड़ेगा।
सीएमओ डा. सुदर्शन पंवार ने कहा कि अभी कोरोना के टेस्ट रोजाना एक हजार से 12 सौ तक किए जा रहे हैं। लगभग 28 हजार लोगों का टेस्ट हो चुका है। कोरोना संक्रमित व्यक्ति कम से कम 17 दिन तक इस वायरस से पीडि़त रहता है। इसलिए पॉजिटिव होने पर 17 दिन तक मरीज हर किसी से दूर रहें। उन्होंने उपायुक्त को बताया कि कोरोना से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग की तैयारियां पूरी हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य टीमें जांच के लिए घर पर आए तो जिलावासी उन्हें सहयोग करें। इस अवसर पर उप सिविल सर्जन डा. चंचल तोमर व डा. संजय गुप्ता भी उपस्थित थे।

बॉक्स:
उपायुक्त शिवप्रसाद शर्मा ने कहा कि इन दिनों डेंगू, मलेरिया, बुखार आदि के मामले भी सामने आ रहे हैं। इसलिए नागरिक मच्छरों को अपने घरों के आसपास नहीं पनपने दें। जलभराव ना होने दें तथा साफ-सफाई का ध्यान रखें और कीटनाशकों का छिडक़ाव करते रहना चाहिए। बुखार या शरीर में कोई तकलीफ होते ही चिकित्सक के पास ईलाज के लिए जाएं।