ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
ब्लाइंड चिटफंड केस को छीपाबड़ टीआई की टीम ने लोन के नाम पर ठगी करने वाले लोगों को गिरफ्तार कर बड़ी सफलता हासिल की
July 31, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

ब्लाइंड चिटफंड केस को छीपाबड़ टीआई की टीम ने लोन के नाम पर ठगी करने  वाले लोगों  को गिरफ्तार कर बड़ी सफलता हासिल की
हरदा। चिटफंड कंपनी का जाल जिले सहित ग्रामीण अंचलों में  पैर पसार चुका है। लोन दिलाने का लालच देकर लोगों से ठगी की जा रही है। आज ऐसे ही एक मामले में छीपाबड़ टीआई ज्ञानू जयसवाल की टीम ने ब्लाइंड चिटफंड केस को लोन दिलाने के नाम पर लोगों से राशि की ठगी वाले आरोपियों को गिरफ्तार करने मैं बड़ी  सफलता हासिल की है। पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गजेंद्र सिंह वर्द्धमान द्वारा पुलिस कंट्रोल रूम में एक प्रेस वार्ता आयोजित कर इस मामले का खुलासा किया है।
एसपी श्री अग्रवाल ने बताया कि वार्ना फाइनेंस कंपनी के नाम से कुछ लोगों द्वारा 40-40 हजार रुपए का लोन देने के नाम पर उनसे 1990 रुपए प्रति व्यक्ति जमा कराए थे। खिरकिया तहसील के विभिन्न ग्रामों के लगभग 3 दर्जन से अधिक लोगों से यह राशि जमा कराई थी जो लगभग ₹120000 बताई जा रही है। छीपाबड़ थाने मे 24 जुलाई को इस मामले में धारा 420 का प्रकरण दर्ज किया गया था। एसडीओपी राजेश सुल्या के मार्गदर्शन में आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु एक टीम गठित की गई थी। टीम ने देवास जिले के विभिन्न ग्रामों में आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु कार्यवाही की।
कॉल डिटेल ओर लोकेशन के आधार पर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। जिसमें राजेश पिता गंगाधर गुर्जर, राहुल पिता विक्रम सिंह गुर्जर को हिरासत में लिया गया। पूछताछ में उन्होंने बिट्टू उर्फ प्रभु लाल एवं केवल यादव के साथ मिलकर छीपाबड़ में किराए का कमरा लेकर फाइनेंस के नाम पर लोगों से पैसा लेना कबूल किया है। आज आरोपियों को न्यायालय के समक्ष पेश कर रिमांड पर लिया गया।
हरदा से भगवान दास सेन की रिपोर्ट