ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
बिरसा विद्यालय में किया गया कोरोना बचाव हेतु शपथ ग्रहण
October 9, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश
बिरसा विद्यालय में किया गया कोरोना बचाव हेतु शपथ ग्रहण
-
बालाघाट | 09-अक्तूबर
 
 
     शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बिरसा में वर्तमान में अपने भयावह रूप धारित संक्रामक बीमारी कोविड-19 से बचाव हेतु उच्च कार्यालय से प्राप्त निर्देशानुसार आज दिनांक 09 अक्टूबर 2020 को विद्यालय में अध्ययनरत छात्राओं व समस्त स्टाफ को संस्था प्राचार्य श्रीमती रमा कनेरे द्वारा शपथ दिलाई गई।
     जिसमें विद्यार्थियों को कोविड 19 महामारी से बचाव के संबंध में जागरूकता कार्यक्रम के साथ स्वच्छता पर  शपथ ग्रहण कार्यक्रम आयोजित किया गया और संस्था में अध्ययनरत छात्राओं द्वारा उत्साह पूर्वक सहभागिता संस्था प्राचार्य श्रीमती रमा कनेरे द्वारा अध्ययनरत छात्राओं व समस्त स्टाफ को कोविड-19 महामारी से बचाव हेतु नियमित रूप से मास्क लगाने, सार्वजनिक स्थानों पर जाने से बचने, बार-बार साबुन-पानी से हाथ धोने या सेनेटाइजर का उपयोग करने की सलाह दी गई । साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन स्वयं करने अपितु दूसरों की भी इसका आवश्यक रूप से पालन करने हेतु निर्देशित किया गया एवं विद्यालयीन छात्राओं को प्रतिदिन नियमित व्यायाम व आवश्यक रूप से कम से कम एक 10 मीनट स्ट्रीमिंग (भाप लेने)  हेतु निर्देशित किया गया।
     कार्यक्रम में छात्राओं द्वारा अपने हाथों पर अपना हस्ताक्षर अंकित कर कोविड -19 को दूर करने का विशेष संदेश देते हुए नारे :- मेरा हस्ताक्षर मेरे हाथ, मेरी सुरक्षा मेरे साथ।।, दो गज की दूरी है अत्यंत जरूरी।।, मास्क ही वैक्सिन है।। मास्क से करो दोस्ती तभी जीवन में रहेगी मौज मस्ती।। सबको मिलकर कोरोना को हराना है, अनावश्यक घर से बाहर नही जाना है। आदि नारों का उद्घोष किया।
     इस अवसर पर संस्था की अध्ययनरत उपस्थित छात्राएं एवं विद्यालय स्टाफ से श्री युगेश वराडे, श्री आर.पी.बघेल, श्री डी.एल.शिव, श्री संतकुमार उके, सुश्री फुला टांडिया, श्रीमती खेलन पटले, श्रीमती निशा धुवारे, श्रीमती अंबुजा मरकाम, श्री डी.के. रामटेके, श्री डी.एस.धारने, श्री काशीनाथ दुफारे, श्री गुलजारी कुशरे, श्रीमती अनिता चौहान श्री पन्नालाल पन्द्रे श्री पालेश्वर राहँगडाले श्री आशीष खेरवार, का सराहनीय योगदान रहा।