ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
भोपाल के निजी अस्पतालों और मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 के उपचार के लिए आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएं विकसित की जायेगी
July 18, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश
भोपाल के निजी अस्पतालों और मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 के उपचार के लिए आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएं विकसित की जायेगी
कोविड-19 की आगामी परिस्थितियों के लिए तैयार रहने के लिए संभागायुक्त ने दिए निर्देश
भोपाल | 18-जुलाई
 
      भोपाल में कोविड-19 की आगामी परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए सभी निजी अस्पताल और मेडिकल कॉलेज अपनी क्षमता और संसाधनों के साथ तैयार रहे। अपने संस्थान  में कोविड-19 के उपचार के लिए आवश्यक स्वास्थ्य व्यवस्थाओं और सुविधाओं की तैयारियां शुरू कर दे। यह निर्देश आज संभागायुक्त श्री कवींद्र कियावत ने उपस्थित सभी निजी अस्पतालों और मेडिकल कॉलेज के डायरेक्टर्स को संभागायुक्त कार्यालय के सभाकक्ष में बैठक के दौरान दिए। बैठक में कलेक्टर अविनाश लवानिया भी मौजूद थे। 
आयुष्मान योजना के अन्तर्गत आने वाले सभी अस्पतालों को आयुष्मान कार्डधारी कोविड-19 पॉजिटिव व्यक्तियों का उपचार करना है।
   संभागायुक्त श्री कियावत ने निर्देश दिए कि सभी अस्पताल जो अपने स्तर पर उपचार की सुविधाएं और व्यवस्थाएं विकसित कर सकते हैं वे सभी आगामी परिस्थितियों के लिए अभी से तैयारियां शुरू कर दें। इसके लिए वे पंडित खुशीलाल शासकीय आयुर्वेदिक अस्पताल में संचालित को कोविड केयर सेंटर की व्यवस्थाओं की जानकारी लें और अपने संस्थान में भी बिना लक्षण वाले कोविड पॉजिटिव व्यक्तियों के उपचार की सुविधा विकसित करें। वे व्यक्ति जो अपने ईलाज का खर्च वहन कर सकते हैं वे आपके
संस्थानों में आपका नियत उपचार शुल्क अदा करके उपचार करा सकते हैं।  इन सब के साथ-साथ आने वाली परिस्थितियों की व्यवहारिकता और ईलाज के दौरान मानवीय संवेदनाओं का भी ध्यान रखें। भारत सरकार और राज्य सरकार द्वारा समय- समय पर जारी कोविड-19 के उपचार सम्बन्धी मानकों और दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए सभी रजिस्टर्ड और अनुमति प्राप्त अस्पताल कोविड-19 पॉजिटिव व्यक्तियों का उपचार कर सकते है।
   भोपाल में आगामी समय में कोविड-19 के उपचार की तैयारियों को मजबूत करने और सभी संस्थाओं को तैयार रखने के लिए यह महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई थी। बैठक में उपायुक्त श्री अनिल कुमार द्विवेदी और सभी शासकीय और निजी अस्पतालों के डायरेक्टर उपस्थित थे।