ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
भारत तभी विश्व शक्ति बनेगा जब भारत का प्रत्येक नागरिक आत्मनिर्भर होगा, स्वदेशी जागरण मंच के संस्थापक राष्ट्रऋषि दत्तोपंत ठेंगड़ी
September 30, 2020 • Aankhen crime par • मध्यप्रदेश

होशंगाबाद- भारत तभी विश्व शक्ति बनेगा जब भारत का प्रत्येक नागरिक आत्मनिर्भर होगा, स्वदेशी जागरण मंच के संस्थापक राष्ट्रऋषि दत्तोपंत ठेंगड़ी के जन्मशताब्दी वर्ष के अवसर पर आयोजित अर्थ एवं रोजगार सृजक सम्मान समारोह में सोहागपुर एवं बाबई क्षेत्र के रोजगार सृजको का सम्मान किया गया ।
कोरोना महामारी के दृष्टिगत इस कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया । 
कार्यक्रम के अध्यक्ष के रूप में सोहागपुर विधायक ठाकुर विजयपाल सिंह जुड़े और कार्यक्रम के मुख्य वक्ता के रूप में स्वदेशी जागरण मंच मध्य भारत के प्रांत संयोजक जुड़े।कार्यक्रम का संचालन स्वदेशी जागरण मंच के जिला संयोजक विशाल गोलानी ने किया । 
इस कार्यक्रम का मूल उद्देश्य था उन लोगों को सम्मानित करने जो बड़े स्तर पर लोगों को रोजगार दे रहे हैं अथवा स्वरोजगार की शिक्षा दे रहे हैं ।सम्मानित होने वाले सभी लोगों का परिचय स्वदेशी जागरण मंच के वरिष्ठ कार्यकर्ता अनूप मित्तल ने करवाया ।सम्मानित होने वालों की सूची पंकज अग्रवाल बाबई,
विज्ञान डेहरिया बाबई,
राजकुमार अग्रवाल सेमरी हरचंद,
विजय छबड़िया सोहागपुर,
कन्नूलाल अग्रवाल सोहागपुर,
अमित बमोरिया कामती सोहागपुर,
सूरज छबड़िया सोहागपुर एवं 
डॉ. आशुतोष शर्मा जी (समेरिटन्स स्कूल संचालक) कार्यक्रम के मुख्य वक्ता अरुषेन्द्र शर्मा ने सभी सम्मानित होने वालों को बधाई दी एवं कहा कि आपको सम्मानित करके हम गौरान्वित हुए हैं । 
आगे आपने बताया कि राष्ट्र को आत्मनिर्भर बनाने के लिए समस्त देशवासियो को आत्मनिर्भर बनना पड़ेगा । पूर्व में जब हमे सोने की चिड़िया कहा जाता था तब भारत का प्रत्येक गांव ही आत्मनिर्भर हुआ करता था। भारत सरकार देश की जनसंख्या के 7-8 प्रतिशत से अधिक सरकारी रोजगार नही दे सकती इसलिए हमें स्किल डेवलपमेंट करके स्वरोजगार की ओर ध्यान देना होगा। उन्होंने बताया कि बेरोजगार शब्द संस्कृत अथवा हिंदी में है ही नही क्योंकि बेरोजगारी जैसी कोई चीज़ भारत मे थी ही नही सभी अपना अपना स्वरोजगार किया करते थे , "बेरोजगार' तो उर्दू शब्द है ।
और भारत मे बेरोजगार वही है जो कुछ पढ़ा लिखा है , अनपढ़ अथवा कम पढ़ा लिखा अपनी स्किल को डेव्लप करके अपना व्यवसाय/कार्य कर रहा है। कार्यक्रम के अध्यक्ष ठाकुर विजयपाल सिंह ने अपने संबोधन में सर्वप्रथम सम्मानित होने वालों को एवं आयोजक स्वदेशी जागरण मंच को ऐसे आयोजन के लिए बधाई दी। तत्पश्चात उन्होंने बताया कि भारत मे बहुत व्यापक स्तर पर चीन के सामान का उपयोग होता है , हमे राष्ट्रवाद का परिचय देते हुए चीनी वस्तुए न खरीदकर भारतीय वस्तुए ही खरीदनी चाहिए । 
आगे उन्होंने बताया कि मोदी सरकार स्ट्रीट वेंडर योजना के अंतर्गत लोगों को स्वरोजगार से आत्मनिर्भर बनाने का कार्य कर रही है और इसमें मध्य प्रदेश प्रथम स्थान पर है। उन्होंने आह्वान किया कि कोरोना महामारी की व्यापकता बढ़ रही है इसको काबू में करने के लिए मास्क का उपयोग अवश्य करें,हाथों को बार बार धोएं , चेहरे पर हाथ न लगाएं ,सोशियल डिस्टेंस का पालन करें एवं अगर अत्यधिक आवश्यक न हो तो घर से बाहर न निकले । सम्मानित होने वाले अमित बमोरिया ने बताया कि मोती पालन द्वारा कैसे वो एक ही एकड़ में प्रतिवर्ष 8-10 लाख कमा लेते हैं। 
समेरिटन्स स्कूल की श्रृंखला के संचालक डॉक्टर आशुतोष शर्मा जी ने आयोजकों को बधाई दी एवं धन्यवाद दिया । जिला संयोजक विशाल गोलानी ने संचालन करते हुए कार्यक्रम का प्रारंभ गायत्री मंत्र के साथ किया और अंत मे सभी का आभार मानते हुए एवं सभी को धन्यवाद देते हुए ये संदेश दिया कि आसपास बनने वाली वस्तुओं का क्रय करें और उसका प्रचार करें और  विदेशी नही सिर्फ स्वदेशी अपनाए ।
इसके साथ ही शांति मंत्र के पश्चात कार्यक्रम के समापन की घोषणा की गई । इस अवसर पर स्वदेशी जागरण मंच के डॉ योगेश मोहन सेठा, ऋषिकांत पटवा,सत्या चौहान,योगी अग्रवाल,रामगोपाल साहू,संदीप साहू,अजित राजपूत,प्रकाश आहूजा, हितेश राजोरिया,इंद्रमोहन दुबे,टोनी दोहरे,मनोहर सांगा,वकील रितेश विश्वकर्मा,संजय शर्मा,दिवाकर शर्मा ,कालीचरण शर्मा ,जीवन दुबे उपस्तिथ रहे। प्रदीप गुप्ता की रिपोर्ट