ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
अयोध्या में विवादित ढांचे को ध्वस्त करने के मामले में बुधवार को फैसला आ गया है
September 30, 2020 • Aankhen crime par • उत्तरप्रदेश

कौशाम्बी

सराय अकिल,। सीबीआई की विशेष अदालत ने फैसला सुनाते हुए। इस मामले में वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, उमा भारती, विनय कटियार समेत सभी 32 आरोपियों को बरी कर दिया है। कौशाम्बी पुलिस अधीक्षक अभिनंदन सिंह के निर्देश पर सराय अकिल पुलिस को हाई अलर्ट में है। फैसला आने के बाद शांति , व्यवस्था एवं आपसी सौहार्द बनाये रखने के उद्देश्य से सराय अकिल पुलिस ने विभिन्न जगहों पर फ्लैग मार्च किया तथा जनसामान्य से आपसी सद्भाव बनाए रखने का आह्वान किया ! सराय अकिल थानाध्यक्ष विजय विक्रम सिंह ने बताया कि अयोध्या ढांचा विध्वंस मामले में फैसला आने के बाद सराय अकिल थाना क्षेत्र में शांति व्यवस्था एवं आपसी सौहार्द बनाये रखने के उद्देश्य से सराय अकिल में उ०नि० हरि कुमार सिंह के नेतृत्व में पुलिस बल द्वारा फ्लैग मार्च निकाला गया। कस्बा इंचार्ज हरि कुमार सिंह ने बताया कि सराय अकिल में कानून व्यवस्था एवं सौहार्द को बनाए रखने के लिए फ्लैग मार्च किया गया और लोगों से कानून व्यवस्था व सौहार्द बनाए रखने का आह्वान किया । कानून व्यवस्था कायम रहे तथा आपसी सौहार्द बना रहे, इसके लिए सराय अकिल पुलिस निरंतर कार्य कर रही है। सोशल मीडिया पर पैनी नजर रखी जा रही है। बाबरी विध्वंस के फैसले को लेकर यदि कोई भी अफवाह फैलाने का प्रयास करता है तो उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। फ्लैग मार्च के दौरान दरोगा विनोद पांडेय , रजनीकांत राजपूत , विपलेश सिंह सराय अकिल पुलिस फ़ोर्स मौजूद रही

 कौशाम्बी से ब्यूरो चीफ पवन मिश्रा की रिपोर्ट