ALL मध्यप्रदेश उत्तराखण्ड उत्तरप्रदेश राजस्थान छतीसगढ़ दिल्ली हरियाणा महाराष्ट्र तेलंगाना बिहार
40 घण्टे के अन्दर थानाक्षेत्र संग्रामगढ़ में हुए राजकुमारी हत्याकाण्ड का सफल अनावरण
August 25, 2020 • Aankhen crime par • उत्तरप्रदेश

पुत्र ही निकला मां का हत्यारा, 100/- रू0 के लिये की मां की हत्या
अभियुक्त गिरफ्तार, आला कत्ल बरामद

         पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ श्री अनुराग आर्य के कुशल निर्देशन में थाना संग्रामगढ़ पुलिस द्वारा दिनांक 23.08..2020 को जनपद के थाना संग्रामगढ़ के निर्मल खुर्द बाबागंज में हुई राजकुमारी हत्याकाण्ड का सफल अनावरण करते हुये घटना से सम्बन्धित अभियुक्त को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से घटना में प्रयुक्त आलाकत्ल चैखट को बरामद करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई।

गिरफ्तार अभियुक्त का विवरणः-

01.  मिथुन शुक्ला पुत्र दीनानाथ शुक्ला नि0 पूरे निर्मल खुर्द बाबागंज थाना संग्रामगढ़ जनपद प्रतापगढ़।
 
बरामदगीः-

01.  आलाकत्ल एक अदद लकड़ी की चैखट।

गिरफ्तारी का स्थानः-  लंगड़ी महुली मोड थाना संग्रामगढ़ जनपद प्रतापगढ़।

         दिनांक 23.08.2020 को वादी श्री दीनानाथ शुक्ला पुत्र स्व0 सूर्य प्रसाद शुक्ल नि0 पूरे निर्मल खुर्द बाबागंज थाना संग्रामगढ़ जनपद प्रतापगढ़ द्वारा सूचना दी गई कि दिनांक 23.08.2020 को समय करीब 11ः00 बजे उनकी पत्नी राजकुमारी उम्र करीब 60 वर्ष जो दुकान से अपने घर जाने के लिये निकली थी लेकिन एक घण्टे बाद भी घर नही पहुंची, करीब 02 घण्टे बाद उनका शव गांव के सहकारी समिति के खण्डहर में पाया गया, किसी ने मेरी पत्नी की हत्या कर दी है। वादी की इस सूचना पर थाना स्थानीय पर मु0अ0सं0 190/20 धारा 302 भादवि बनाम अज्ञात का अभियोग पंजीकृत किया गया।  

           पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ श्री अनुराग आर्य द्वारा घटना का अनावरण कर शीघ्र अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु थानाध्यक्ष संग्रामगढ़ को कड़े निर्देश दिये गये थे। इसी क्रम में अपर पुलिस अधीक्षक पश्चिमी श्री दिनेश कुमार द्विवेदी, क्षेत्राधिकारी लालगंज के निकट पर्यवेक्षण में थानाध्यक्ष श्री आशुतोष त्रिपाठी द्वारा मुकदमा उपरोक्त की गहन विवेचना व अन्य साक्ष्यों के आधार पर घटना में संलिप्त अभियुक्त मिथुन शुक्ल को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से आलाकत्ल चैखट बरामद किया गया। 
 
पूछताछ का विवरण-

       पुलिस द्वारा की गयी पूछताछ में गिरफ्तार अभियुक्त मिथुन ने बताया कि मेरे पिता ने मेरा इलाज करवाने के लिये मेरी मां के 100/- रू0 दिये थे, मेरी मां मुझे अपने साथ ले जाकर दवा/इलाज कराना चाहती थी जबकि मै उस दिन पहले से ही शराब पी लिया था और अपनी मां से वह 100/- रू0 भी शराब पीने के लिये लेना चाहता था, मेरी मां मुझे पैसा नही देना चाहती थी। जब मेरी मां सहकारी संघ की जर्जर बिल्डिंग के पास मिर्च के पेड को निकाल रही थी तो मै वहां पैसा मांगने फिर पहुंचा, मां पैसा नही देना चाहती थी इसलिये मुझे देखकर मेरी मां सहकारी संघ की बिल्डिंग के अन्दर की तरफ भागी कि मै भी पीछे चल दिया, पैसा न देने पर गुस्सा होकर पास में पड़े एक लकड़ी के चैखट को उठाकर मां के सिर पर मार दिया जिससे मेरी मां जमीन पर गिर गई और सिर से खून निकलने लगा तथा उनकी मृत्यु हो गई।

पुलिस टीमः  थानाध्यक्ष श्री आशुतोष त्रिपाठी मय हमराह थाना संग्रामगढ़ जनपद प्रतापगढ़।