ALL मध्यप्रदेश उत्तराखंड उत्तरप्रदेश गुजरात,राजस्थान छतीसगढ़,उड़ीसा दिल्ली हरियाणा,पंजाब महाराष्ट्र पंजाब,जम्मू कशमीर बिहार,झारखंड
21 सितंबर को कृषि अध्यदेशों के खिलाफ जिला स्तर पर प्रदर्शन करेगी कांग्रेस :- वरुण चौधरी।
September 19, 2020 • Aankhen crime par • हरियाणा,पंजाब

बराड़ा (जयबीर राणा थंबड़)
भाजपा सरकार द्वारा लगातार जनविरोधी फैसले लिए जा रहे हैं। अभी हाल ही में केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा तीन कृषि अध्यादेश लाए गए हैं, जो कि पूरी तरह से किसान, मजदूर और आढ़ती विरोधी हैं। इन अध्यदेशों के विरोध में 21 सितंबर,दिन सोमवार,सुबह 10 बजे एस.डी. एम.कार्यालय के पास अम्बाला शहर में केंद्र सरकार के खिलाफ जिला स्तरीय धरना प्रदर्शन कर जिला उपायुक्त को महामहिम राष्ट्रपति के नाम तीनों अध्यदेशों को तुरंत निरस्त करने बारे ज्ञापन सौंपा जाएगा।विधायक वरुण चौधरी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी जी ने देश में किसान हित में फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य की व्यवस्था लागू की थी। जिसमें किसानों को खरीद की गारंटी दी गई थी।अब मोदी सरकार द्वारा हाल ही में लागू किए तीन कृषि अध्यदेश पूरी तरह से किसान विरोधी है।इन अध्यादेशों के जरिए सरकार के कुछ पसंदीदा पूंजीपतियों को लूट की खुली छूट होगी और किसान अपनी फसल बेचने के लिए इन पूंजीपतियों के रहम पर निर्भर होंगे। उन्हें न्यूनतम समर्थन मूल्य भी नहीं मिल पाएगा। किसान खेतीबाड़ी के लिए पूंजीपतियों से बंध जाएगा, जिससे किसानों का वजूद समाप्त हो जाएगा। वहीं यह अध्यादेश आढ़ती भाइयों के लिए भी साजिश भरे हैं। सरकार द्वारा बड़े पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए मंडी व्यवस्था को खत्म किया जा रहा है।सरकार द्वारा लाए गए इन तीन कृषि अध्यादेशों को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नही किया जा सकता। किसान, मजदूर और आढ़ती भाइयों को बर्बाद करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा इन तीन अध्यादेशों को लाकर षडयंत्र रचा गया है। विधायक ने कहा कि कांग्रेस पूरी मजबूती के साथ प्रदेश के किसान,मजदूर और आढ़ती के साथ खड़ी है। विधायक ने सभी से अपील की कि सभी साथी 21 सितंबर को इस जिला स्तरीय धरना-प्रदर्शन में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले और सरकार के इन किसान,मजदूर और आढ़ती विरोधी कदमों के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करें।